बिहार आर्थिक पैकेज

बिहार समाचार

बिहार वासियों के लिए खुशखबरी 

बिहार आर्थिक पैकेज समाचार, बिहार समाचार

बिहार आर्थिक पैकेज लेकर बड़ा बयान

बिहार वासियों के लिए खुशखबरी है, बिहार को जल्द आर्थिक पैकेज मिल सकता है ! प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से घोषित 1.65 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज अब बिहार की झोली में आ सकता है ! बीजेपी - जनता दल यूनाइटेड की सरकार बनते ही कयास लगाए जा रहे थे कि बिहार को जल्दी ही आर्थिक पैकेज मिलेगा! लगता है कि वह दिन अब आ चुका है! सूत्रों के अनुसार केंद्रीय मंत्रिमंडल में इस बात की चर्चा हुई है कि बिहार को कितने किस्तों में आर्थिक पैकेज दिया जाए !

बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को इसका अाहठ मिलते ही, उसका बड़ा बयान मंगलवार को आया है - श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में आयोजित एक सम्मेलन में मोदी ने कहा कि  “ बिहार के विकास में विशेष पैकेज के 1.65 लाख करोड़ रुपये का सदुपयोग होगा और भ्रष्टाचार मुक्त होगा ” !

बिहार विधानसभा चुनाव के समय भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र कुमार मोदी ने इस पैकेज की घोषणा की थी जिसमें लालू प्रसाद ने इसका काफी आलोचना भी किया था ! जब लालू प्रसाद और नितीश कुमार का सरकार में थे उस समय केंद्र की सरकार ने बिहार को पैकेज देने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाया था ! चूंकि कि अब चुनाव का समय आने वाला है और नरेंद्र मोदी को भी बिहार के जनता को जवाब देना है! इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि बिहार को पैकेज मिलने के दिन आ रहे हैं ! सुशील कुमार मोदी ने भी कहा अब दोनों जगह एक तरह का सरकार है तो बिहार का विकास अब तेजी से होगा !

बिहार विशेष पैकेज क्यों है जरूरत

बिहार से झारखंड को अलग कर देने के बाद बिहार में उद्योग की भारी कमी है जिससे यहां के लोगों को काम नहीं मिल रहा है उसके साथ बिहार सरकार को मिलने वाले टैक्स में भाड़ी कमी देखा गया है ! भारत में सबसे कम प्रति व्यक्ति आय बिहार के नागरिकों का है और यहां की आबादी का 60% से ज्यादा हिस्सा गरीबी रेखा के नीचे आता है !

आपको बता दूं कि अटल बिहारी वाजपेई की सरकार ने बिहार झारखंड का विभाजन किया था उस समय बिहार में श्री लालू प्रसाद यादव का सरकार हुआ करता था ! उसके बाद कांग्रेस का सरकार रहा जबकि राज्य में बीजेपी और जदयू का सरकार था ! केंद्र और राज्य में अलग पार्टियों के सरकार होने से बिहार को आर्थिक पैकेज इतने सालों से नहीं मिल पाया था ! अब इतने सालों के बाद राज्य और केंद्र में एक तरह का सरकार बना है तो उम्मीद की जा सकती है कि बिहार को आर्थिक पैकेज मिल जाए !