बिहार का भूगोल

By: M. S. Nashtar Last Edited: 07 Mar 2019 02:38 AM

bihar ka bhoogol, Geography of Bihar in hindi

नमस्कार मित्र, क्या आप बिहार का भूगोल से संबंधित पूर्ण जानकारी चाहते हैं ? बिहार के भूगोल से संबंधित मैंने कई पुस्तकों का अध्ययन करने के बाद पता चला कि उसमें काफी त्रुटि है ! 

BPSC और अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं में पूछे जाने वाले भूगोल का उन विषयों को इस लेख में शामिल किया गया है जिसके बारे में लोगों के बीच जानकारी कम है ! कृपया इस लेख को आखिर तक जरूर पढ़ें ! आपका इसमें बहुत बड़ा फायदा छुपा है! 

Geography of Bihar In Hindi

ना जाने आप ने कितने बार ज्योग्राफी ऑफ बिहार इन हिंदी शब्दों को आप ने गूगल पर सर्च किया होगा ! आज आपको बिहार के ज्योग्राफी से संबंधित संपूर्ण जानकारी मिलने वाला है ! 

बिहार की मिट्टी के प्रकार और जिले

बिहार की मिट्टी खेती के लिए काफी उपयुक्त है ! बिहार में नदियों के द्वारा लाए जाने वाली अवसाद तलछट के कारण अधिक उपजाऊ मिट्टी बन जाती है ! जिस क्षेत्र में नदियों का पानी नहीं जाता है वहां की मिट्टी को कम उपजाऊ देखा गया है !

बिहार की मिट्टी को भौगोलिक आधार पर तीन भागों में बांटा जा सकता है !

    • गंगा का उत्तरी मैदान क्षेत्र
    • गंगा का दक्षिणी मैदान क्षेत्र
    •  दक्षिणी पठारी क्षेत्र की मिट्टी

गंगा का उत्तरी मैदान

गंगा का उत्तरी मैदान में जलोढ़ या अपोढ़ मिट्टी की प्रधानता है ! गंडक, महानंदा, कोसी और सरयू नदियों के द्वारा लाई गई अवसाद तलछट के कारण यहां की मिट्टियों कुछ भिन्नताओं को देखा जा सकता है ! इसलिए, मिट्टी को तीन प्रकारों में विभाजित किया गया है -

1 - तराई मिट्टी

तराई मिट्टी की भूमि में मिट्टी और बालू की एक के बाद एक लहर होती है और जल स्तर काफी ऊपर होता है ! इस तरह की मिट्टी में अम्लीयता मध्यम होता है और इस का रंग पीला होता है !

इस तरह की मिट्टी बिहार के उत्तर में नेपाल सीमा के आसपास के क्षेत्र में मिलता है जो चंपारण से लेकर किशनगंज तक फैला हुआ है !

2 - पुरानी जलोढ़ मिट्टी

जलोढ़ मिट्टी को बांगर मिट्टी दिखाते हैं ! किस मिट्टी में चुना और छारीय तत्व बहुत कम होते हैं और उसका रंग हल्के  भूरे रंग की होती है !

इस तरह की मिट्टी कोसी क्षेत्र में अधिक देखा गया है ! दरभंगा और मुजफ्फरपुर में इस प्रकार की मिट्टी पाई जाती है !

3 - बलसुंदरी मिट्टी

बलसुंदरी मिट्टी को आम, लीची और केले की खेती के लिए बहुत अच्छा माना जाता है ! यह मिट्टी प्राकृतिक रूप से क्षारीय होती है और गहरे भूरे रंग की होती है !

इस तरह की मिट्टी पूर्णिया सहरसा दरभंगा और मुजफ्फरपुर जिले में ज्यादा मिलता है !

4- खादर मिट्टी

खादर मिट्टी जलोढ़ मिट्टी का एक नवीनतम रूप है जो बाढ़ प्रभावित इलाके में ज्यादा होता है ! बाढ़ द्वारा लाई गई लूयोमस मिट्टी की उर्वरता को बढ़ाती है ! क्षेत्रों में बालू की अधिक मात्रा इस मिट्टी की उर्वरता को घटा देती है !

गंगा का दक्षिणी मैदान

गंगा के दक्षिणी क्षेत्र में बालू, पहाड़ी मिट्टी, जलोढ़ रेट और कंकड़ वाली मिट्टी का बहुलता ज्यादा देखा गया है जो खेती के लिए आज से बहुत उत्तम नहीं होता है ! 

1 - टाल की मिट्टी

गेहूं, खेसारी, चना, मटर, और मसूर के लिए इस तरह का मिट्टी को उत्तम माना जाता है ! यह गंगा के बैकवाटर बेल्ट में पाई जाती है जो बक्सर से बांका जिले तक फैली हुई है ! मिट्टी का रंग हल्के भूरे से गहरे भूरे और मध्यम से भारी मिट्टी में बनावट में भिन्न होता है।

2 - बलथर मिट्टी

बलथर मिट्टी में रेट और कंकड़ की बहुलता होता है और इस मिट्टी का रंग पीला और लाल होता है ! इस मिट्टी में पानी सोखने की क्षमता बहुत कम होती है !

मक्का, अरहर, चना और ज्वार-बाजरा की खेती इस मिट्टी में होती है जो बिहार के कैमूर जिला में सबसे ज्यादा देखा गया है ! बाकी फसलों के लिए इस तरह की मिट्टी को अच्छा नहीं माना जाता है !

3 - अभ्रक मिट्टी

इस तरह के मिट्टी में अभ्रक की मात्रा बहुत ज्यादा होती है जिसे पहाड़ी मिट्टी भी कहते हैं ! इस तरह की मिट्टी मोटे अनाज एवं मक्के की खेती होती है बाकी अनाज के लिए इस तरह की मिट्टी को अच्छा नहीं माना जाता है ! अभ्रक मिट्टी बिहार के नवादा जिले में ज्यादा है !

4 - लाल बलुई मिट्टी

लाल बलुई मिट्टी में  बालू ज्यादा होता है और पानी को सूखने की क्षमता बहुत कम होती है ! इस मिट्टी को उपजाऊ मिट्टी नहीं माना जाता है !

यह मिट्टी कैमूर रोहतास के क्षेत्र में ज्यादा मिलता है और इस क्षेत्र में मोटे अनाज की खेती होती है !

दक्षिणी पठारी क्षेत्र की मिट्टी

बिहार के दक्षिणी पठारी क्षेत्र में लाल पीली मिट्टी के अलावा लाल रेतीली मिट्टी की बहुलता है जो खेती के लिए उत्तम मिट्टी नहीं माना जाता है ! 

1 - लाल और पीली मिट्टी

ये मिट्टी आग्नेय और कायापलट वाली चट्टानों के विघटन से बना मिट्टी होता है और जो कम उपजाऊ होता है ! इस तरह की मिट्टी में मोटे फसलों और दालों की खेती होती है ! यह बांका, गया, औरंगाबाद, जमुई और मुंगेर में पाया जाता है।

2 - लाल रेतीली मिट्टी

इस मिट्टी में रेत का प्रतिशत अधिक होता है जो इसे कम उपजाऊ होता है ! इस मिट्टी को बाजरे और ज्वार की फसलों के लिए उपयुक्त माना जाता है !

बिहार के सीमाओं की जानकारी

बिहार की सीमाएँ यूपी, झारखंड और पश्चिम चंपारण राज्यों से लगती हैं। बिहार का अंतरराष्ट्रीय सीमा सिर्फ नेपाल देश के साथ है ! नेपाल बिहार के सीमा की लंबाई  601 किलोमीटर है ! कटिहार और रोहतास जिला बिहार के ऐसे जिले हैं जिनकी सीमाएं भारत के दो दो राज्यों से लगता है !

बिहार के 7 जिले ऐसे हैं जो नेपाल के साथ अंतर्राष्ट्रीय सीमा से लगे हैं जिसका नाम निम्नलिखित है -

  • पश्चिम चंपारण
  • पूर्वी चंपारण
  • सीतामढ़ी
  • मधुबनी
  • सुपौल
  • अररिया
  • किशनगंज

बिहार के 8 जिले ऐसे हैं जो उत्तर प्रदेश के सीमा से लगे हैं ! उन जिलों के नाम निम्नलिखित हैं -

  • पश्चिम चंपारण
  • गोपालगंज
  • सीवान
  • सारण
  • भोजपुर
  • बक्सर
  • कैमूर
  • रोहतास

बिहार के 8 जिले ऐसे हैं जो झारखंड के सीमा से लगे हैं ! उन जिलों के नाम निम्नलिखित हैं  

  • रोहतास
  • औरंगाबाद
  • गया
  • नवादा
  • जमुई
  • बांका
  • भागलपुर
  • कटिहार

बिहार के 3 जिले ऐसे हैं जो पश्चिम बंगाल के सीमा से लगे हैं ! उन जिलों के नाम निम्नलिखित हैं -

  • किशनगंज
  • पूर्णिया
  • कटिहार

पटना की चौहद्दी - पटना से लगने वाले जिले

  • बेगूसराय
  • समस्तीपुर
  • वैशाली
  • छपरा
  • भोजपुर
  • अलवर
  • जहानाबाद
  • नालंदा
  • लखीसराय

बिहार के कितने प्रतिशत भौगोलिक क्षेत्र में वनों का विस्तार है

बिहार में वन क्षेत्र 7,288 वर्ग किलोमीटर है जो बिहार के क्षेत्रफल का 7.74 प्रतिशत है ! बिहार में वन क्षेत्र सर्वाधिक कैमूर और पश्चिमी चंपारण जिले में है !

सबसे कम वन क्षेत्र शिवहर और शेखपुरा में है ! बिहार में एक राष्ट्रीय पार्क है जिसका नाम वाल्मिकीनगर राष्ट्रीय उद्यान जो पश्चिमी चंपारण में स्थित है  !

बिहार की जनसंख्या कितनी है

बिहार जनसंख्या लगभग 11 करोड़ है जो भारत देश में जनसंख्या की दृष्टि से तीसरे स्थान पर आता है जबकि क्षेत्रफल की दृष्टि से 12वा स्थान है !

2011 जनगणना के अनुसार,

  • जनसंख्या - 103,804,637
  • जनसंख्या घनत्व - 1102 प्रति वर्ग किलोमीटर
  • साक्षरता - 63.82 %
  • लिंगानुपात - 916
बिहार की जलवायु किस क्षेत्र में आता है

बिहार पूरी तरह से शीतोष्ण क्षेत्र के उप उष्णकटिबंधीय क्षेत्र में निहित है और इसके जलवायु प्रकार नम उप उष्णकटिबंधीय है ! बिहार का औसत तापमान गृष्म ऋतु में 35 से 45 डिग्री सेल्सियस एवं जाड़े में 5 से 15 डिग्री सेल्सियस बीच रहता है।

जाड़े का मौसम नवंबर से मध्य फरवरी के आखरी सप्ताह तक रहता है। अप्रैल के दूसरे सप्ताह से ग्रीष्म ऋतु का आरंभ हो जाता है जो जुलाई के आखिरी सप्ताह तक रहता है।

बिहार में वर्षा मौसम जून के महीने से शुरू हो जाता है जो अक्टूबर के आखिरी सप्ताह तक होता है लेकिन सबसे अधिक वर्षा जुलाई और अगस्त के महीने में होता है ! औसतन 1205 मिलीमीटर वर्षा तक होने की संभावना रहती है ! यह वर्षा अधिकांश मानसून से होने वाला वर्षा होता है !

वर्षा के पश्चात बिहार में भीषण बाढ़ का प्रकोप रहता है जिसमें इजाफा नेपाल द्वारा पानी छोड़े जाने से होता है ! भीषण बाढ़ से जान माल के अलावा खेती को काफी नुकसान होता है!

भौगोलिक स्थिति क्या है

24º 20 '10 "और 27º3'15" उत्तर अक्षांश
83º 19 '50 "और 88º17'40" पूर्वी देशांतर

बिहार के मुख्य नदियों के नाम क्या है

गंगा, सरयू, गंडक, बागमती, कोशी, सोन, पुणुन और फल्गू  ! 

बिहार की समुद्र तल से एवरेज ऊँचाई कितना है

बिहार के लगभग हर जिले की समुद्र तल से ऊंचाई भिन्न है ! अगर इसका एवरेज निकाला जाए तो लगभग 173 फीट (53 मीटर) है ! 

बिहार का कुल क्षेत्रफल कितना है

बिहार का कुल क्षेत्रफल 94,163 वर्ग किलोमीटर है ! 

बिहार के सड़कों की लंबाई कितनी है

राष्ट्रीय राजमार्ग: 26 9 4.75 किलोमीटर
राज्य राजमार्ग: 11050.12 किलोमीटर
अन्य पीडब्ल्यूडी रोड: 15385.88 किलोमीटर

बिहार की चौहद्दी क्या है
  • उत्तर: नेपाल
  • दक्षिण: झारखंड
  • पूर्व: पश्चिम बंगाल
  • पश्चिम: उत्तर प्रदेश
बिहार की कुल लंबाई और चौड़ाई कितनी है
  • लंबाई: उत्तर से दक्षिण 345 कि.मी.
  • चौड़ाई: पूर्व से पश्चिम 483 किलोमीटर
बिहार की राजधानी कहां है

बिहार की राजधानी पटना है ! पटना का पुराना नाम पाटलिपुत्र है ! 

बिहार राज्य की आधिकारिक भाषाएँ क्या है

हिंदी / उर्दू

बिहार में कितने प्रमंडल हैं

बिहार राज्य में कुल 9 प्रमंडल हैं ! पटना , तिरहुत, सारण, दरभंगा, सहरसा, पुर्णिया, भागलपुर, मुंगेर और मगध !

वर्तमान समय में बिहार में कितने जिले हैं

वर्तमान समय में बिहार में जिलों की संख्या 38 है ! बिहार का सबसे नया जिला नाम अरवल जिला है ! 

1. अररिया
2. अरवल
3. औरंगाबाद
4. कैमुर
5. कटिहार
6. किशनगंज
7. खगड़िया
8. गया
9. गोपालगंज
10. जमुई
11. जहानाबाद
12. दरभंगा
13. नवादा
14. नालंदा
15. पटना
16. पश्चिम चंपारण
17. पूर्णियां
18. पूर्वी चंपारण
19.  बक्सर
20. बाँका
21. बेगूसराय
22.  भागलपुर
23. भोजपुर
24. मधेपुरा
25. मधुबनी
26. मुंगेर
27. मुजफ्फरपुर
28. रोहतास
29. लखीसराय
30. वैशाली
31. सहरसा
32. समस्तीपुर
33. सारन
34. सीतामढी
35. सीवान
36. सुपौल
37. शिवहर
38. शेखपुरा

मैं मानता हूं कि इस लेख में Bihar Ka Bhugol की जानकारी पूरा नहीं है ! इस की आप चिंता ना करें ! आप की जानकारी पूरा करने के लिए, आपके लिए मैंने और भी आर्टिकल लिखे हैं ! जिसके लिंक नीचे दिए गए हैं !