History of Bihar in Hindi

history of bihar in hindi, बिहार का इतिहास, बिहार का प्राचीन इतिहास

History of Bihar in Hindi शब्द को आप इंटरनेट पर सर्च करते हैं ! आप बिहार का इतिहास, बिहार का राजनीतिक इतिहास और बिहार का प्राचीन इतिहास जानना चाहते हैं तो कृपया इस लेख को पूरा पढ़े !

बिहार का इतिहास

बिहार का इतिहास को पूरा नहीं पढ़ा तो आपका भारत का इतिहास अधूरा रह जाएगा ! बौध धर्म के बहुत से लोग यहाँ विहार करने के लिए आते थे इसलिए इस राज्य का नाम बिहार पड़ा था !

आर्यभट्ट

History of bihar in hindi

Source of image 

अर्धांगिनी माता सीता, लव-कुश, भगवान् बुध, गुरु गोविद सिंह, भगवान महावीर, आचार्य चाणक्य, आर्यभट, अशोक और प्रथम राष्टपति डॉक्टर राजेंद्र प्रशाद का जन्मभूमि बिहार है ! भारत के राष्ट्रीय चिह्न अशोक लाट एवं राष्ट्रीय ध्वज में चक्र अशोक के सिंह स्तंभ पर बने चक्र का है ! दुनिया का सबसे पहला गणराज्य का उदय बिहार के वैशाली जिले में हुआ था!

अशोक स्तंभ

बिहार का प्राचीन इतिहास

Source of image 

बिहार का प्राचीन इतिहास 

बिहार का प्राचीन इतिहास कई धर्मों से जुड़ा है ! बिहार का सीतामढ़ी जिला अर्धांगिनी माता सीता का जन्म रहा है ! बौद्ध धर्म बिहार के गया जिला से जुड़ा है ! जैन धर्म के संस्थापक भगवान महावीर का जन्म बिहार का मौजूदा राजधानी पटना (पाटलिपुत्र) में हुआ था ! सिख धर्म के आखरी गुरु गुरु गोविंद सिंह का जन्म बिहार के पटना साहिब हुआ था !

अगर शासन की बात करें तो अंग, मगध और वज्जीसंघ का शासन प्राचीन में रहा है  ! सम्राट अशोक का शासन करने की शैली विश्व इतना प्रसिद्ध हुआ था कि, एलेक्जेंडर (सिकंदर) ने अध्ययन करने के लिए अपने दूत मेगास्थनीज को पटना भेजा था !

प्राचीन काल में पाटलीपुत्रा (पटना) भारत का राजधानी था जबकि राजगीर क्षेत्र मौयकालीन राजा बिंबिसार का राजधानी हुआ करता था !

प्राचीन नालंदा विश्वविद्यालय

बिहार का इतिहास

Source of image 

जब दुनिया के बाकी हिस्सों में लोग पढ़ना लिखना नहीं जानते थे उस समय नालंदा बिहार में विश्वविद्यालय हुआ करता था जिसके कुलपति आर्यभट्ट थे ! आर्यभट महान गणितग्य और खगोल के बड़े वैज्ञानिक थे! 

मध्यकाल में बिहार विदेशी शासकों का आक्रमण केंद्र बना हुआ था जिस कारण बिहार को उस समय काफी क्षति हुई थी ! मुगल काल में भारत का राजधानी दिल्ली था और उस समय के सबसे लोकप्रिय शासक का नाम शेरशाह सूरी था, सासाराम जिले का नाम शेरशाह सूरी के नाम पर है ! मुगल के बाद ब्रिटिश का शासन शुरू हो गया था उस समय बिहार बंगाल राज्य का हिस्सा हुआ करता था जिसका कंट्रोल कोलकाता से होता था ! 22 मार्च 1912 के बंगाल का विभाजन के बाद बिहार अलग राज्य बना था लेकिन 1936 में बिहार से उड़ीसा को अलग राज्य बना दिया गया था ! आजादी के बाद 1956 में

पुरुलिया जिला  बिहार से हटाकर पश्चिम बंगाल में जोड़ दिया गया था ! 15 नवम्बर, 2000 को बिहार से झारखंड को अलग राज्य बनाया गया था !

 

बिहार समाचार - Related Searches 

भारत के राष्ट्रपति - Related Searches

 

India Related searches