फिजिक्स

व्हाट इस फिजिक्स

व्हाट इस फिजिक्स | भौतिक विज्ञान का अर्थ | व्हाट इस फिजिक्स इन हिंदी लैंग्वेज

व्हाट इस फिजिक्स इन हिंदी लैंग्वेज

फिजिक्स शब्द का उदय, ग्रीक भाषा physis से हुआ था जिसका मतलब प्रकृति होता है ! फिजिक्स की प्राचीन परिभाषा में, भौतिक विज्ञान विज्ञान का एक महत्वपूर्ण शाखा है जिसमें प्रकृति एवं उसके दर्शनों का अध्ययन किया जाता है! लेकिन फिजिक्स की आधुनिक परिभाषा में, पदार्थ व ऊर्जा और उनके बीच संबंधों का अध्ययनों फिजिक्स कहा जाता है !

फिजिक्स की परिभाषा से दो शब्द निकल कर आता है -

  • पदार्थ
  • ऊर्जा

भौतिक विज्ञान का अर्थ  

पदार्थ क्या है ?

पदार्थ उस वस्तु को कहा जाता है जिस में वजन हो और क्षेत्र को घेरे, उसे पदार्थ कहा जाता है इसका मतलब यह हुआ कि पृथ्वी से लेकर धूल मिट्टी तक पदार्थ हैं ! जिस किसी भी चीज़ में वजन नहीं होगा उसे पदार्थ नहीं कहा जा सकता है ! पदार्थ को ना तो बनाया जा सकता है ना ही किसी प्रकार से बेकार किया जा सकता है, इसे सिर्फ एक अवस्था से दूसरी अवस्था में बदली जा सकती है !

ऊर्जा क्या है ?

कार्य करने की क्षमता को ऊर्जा कहते हैं, ऊर्जा के बिना कोई भी कार्य संभव नहीं है ! ऊर्जा को ना तो बनाया जा सकता है ना ही बेकार किया जा सकता है इसे सिर्फ एक फॉर्म से दूसरे फॉर्म में परिवर्तित किया जा सकता है !

पदार्थ और ऊर्जा में संबंध  

न्यूटन और आइंस्टाइन को भौतिकी का जनक माना जाता है, इन दोनों को जनक माना जाता है !  यह आपको हम बताने की कोशिश करूंगा  ! बल और विस्थापन के गुणन को कार्य या ऊर्जा कहते हैं ! किसी भी वस्तु में बल लगाया जाए और उसका विस्थापन हो जाए तो कहा जाता है कि उर्जा के कारण इसमें गति आया, इस ज्ञान को न्यूटन ने अपने गति नियम में समझाया है ! E इक्वल टू mc स्क्वायर में, आइंस्टाइन ने साफ तौर पर बताया है पदार्थ, ऊर्जा में कैसे परिवर्तित होता है ! दोनों फिजिक्स के जनकों  के कंसेप्ट से साफ पता चलता है कि पदार्थ और ऊर्जा में संबंध हैं ! आज के समय जो फिजिक्स हम पढ़ते हैं उसमें हमें पदार्थ और ऊर्जा अध्ययन करना होता है!

यांत्रिक, ध्वनि, हिट ,विद्युत और लाइट ऊर्जा आदि की उत्पत्ति पदार्थ से होती है ! ऊर्जा उत्पत्ति से लेकर उपयोग की फिलॉस्फी को भौतिक शास्त्र में अध्ययन किया जाता है ! भौतिक विज्ञान को आज शास्त्रीय भौतिकी और आधुनिक भौतिकी में बांटा गया है !

शास्त्रीय भौतिकी

न्यूटोनियन यांत्रिकी, ऊष्मप्रवैगिकी, और मैक्सवेल की विद्युत चुम्बकीयता के सिद्धांत शास्त्रीय भौतिकी के सभी उदाहरण हैं। शरीर और बलों के शास्त्रीय भौतिकी में, विशेष रूप से न्यूटन के गति के नियमों और उन पर आधारित यांत्रिकी के सिद्धांतों को दर्शाता है।

आधुनिक भौतिकी

आधुनिक भौतिकी के पिता अल्बर्ट आइंस्टीन एक 20 वीं सदी के वैज्ञानिक थे जो आधुनिक भौतिकी में कुछ महत्वपूर्ण विचारों जैसे कि सापेक्षता के सिद्धांत और प्रसिद्ध समीकरण ई = एमसी 2 के साथ आए थे। "आधुनिक" भौतिक विज्ञान का अर्थ है बीसवीं शताब्दी के शुरुआती दो प्रमुख सफलताओं के आधार पर भौतिकी: सापेक्षता और क्वांटम यांत्रिकी।

 

 

Hindi learning Related Searches

NEET Related Searches

IIT संबंधित खोजें

आई आई टी की फीस

आई आई टी की योग्यता

क्या आई आई टी की परीक्षा बिना कोचिंग का क्या जा सकता है !

आईआईटी क्या है  ?

Bihar Board 12th Exam Date 2018

शिक्षा पर विचार - मुख्यपृष्ठ

IAS  की तैयारी

Free Coaching list for IAS

List of success Muslim in UPSC

HAMDARD STUDY CIRCLE

फ्री कोचिंग : सिविल सर्विस : JMI

IAS full form in hindi

IAS Topper list from 1972 to 2017

बिहार और उत्तर प्रदेश के IAS टॉपर

मुस्लिम IAS टॉपर्स

मेडिकल प्रवेश परीक्षा के नये नियम : NEET

Free NEET & IIT Coaching for SC &  OBC students

Hamdard coaching for NEET & IIT

Neet latest updates

NEET - 2017 - ड्रेस समेत कई बड़े बदलाव

Tips : Prepare for Bank Exams

Types of Railway jobs

रेलवे भर्ती परीक्षा

टीचिंग लाइन में कैसे बनाएं करियर

Ph.D. programmes in India

वोकेशनल कोर्स

नवोदय विद्यालयों के लिए प्रवेश परीक्षा

नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा का सिलेबस

शिक्षा ऋण व स्कॉलरशिप

प्री और पोस्ट मेट्रिक छात्रवृति

बिहार मदरसा बोर्ड - पुर्णिया व पटना

Bihar madarsa board exam date

BSSC latest News

INSPIRING EDUCATION NEWS