ICSE Full Form in Hindi

icse full form in hindi, ib full form in hindi, icse ka full form, ib ka full form, आईसीएसई बोर्ड, आईबी बोर्ड, आई.सी.एस.ई की विशेषताएं, आई.बी बोर्ड की विशेषताएं

IB Full Form in Hindi

ICSE full form in hindi aur IB full form in hindi यानी आईसीएसई और आईबी शिक्षा बोर्ड का फुल फॉर्म जानना चाहते हैं ? क्या राज्यों के बोर्ड व सीबीएसई बेहतर है ? यह दोनों शिक्षा बोर्ड किसके लिए ज्यादा उपयोगी है ? सभी प्रश्नों का उत्तर आपको इस लेख में मिलेगा, कृपया अंत तक ज़रूर पढ़ें !

I.C.S.E ka full form aur I.B ka full form

  • ICSE - Indian Certificate of Secondary Education
  • आई.सी.एस.ई - इंडियन सर्टिफिकेट ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन
  • IB - International Baccalaureate
  • आई.बी - इंटरनेशनल बैचलरेट

ICSE शिक्षा बोर्ड की अहम जानकारी

आईसीएसई भारतीय स्कूल सर्टिफिकेट परीक्षा परिषद (CISCE) से जुड़ा हुआ है जो निजी, गैर-सरकारी शिक्षा बोर्ड है ! इस शिक्षा बोर्ड का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है। यह भारत में कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय परीक्षा प्रणाली के अनुकूल बनाने के लिए गठित किया गया था। यह भारत में तीन परीक्षाएँ संचालित करता है -

  • ICSE (Indian Certificate of Secondary Education) - 10 वीं कक्षा के लिए
  • CVE (Certificate for Vocational Education) - 12 वीं कक्षा के लिए
  • ISC (Indian School Certificate) - 12 वीं कक्षा के लिए

आईसीएसई बोर्ड की कुछ प्रमुख विशेषताएं हैं:

  • यह सभी विषयों जैसे भाषा, विज्ञान, गणित, कला इत्यादि पर ध्यान देता है।
  • छात्रों के लिए विभिन्न विषयों का चयन करने के लिए अधिक विकल्प प्रदान करता है !
  • भारत और सिंगापुर, संयुक्त अरब अमीरात जैसे अन्य देशों में व्यापक कवरेज (1000 से अधिक स्कूल) भी हैं।
  • भाषा विषयों के रूप में 20 से अधिक भारतीय भाषाओं और 12 विदेशी भाषाओं की सुविधा प्रदान करता है !
  • छात्रों के व्यावहारिक ज्ञान व ऑल राउंड डेवलपमेंट पर ज्ञान में वृद्धि पर केंद्रित है।

आईसीएसई बोर्ड के कुछ नुकसान भी हैं

  • पाठ्यक्रम बहुत विशाल और व्यापक है।
  • अन्य बोर्डों की तुलना में शुल्क अधिक है।

IB शिक्षा बोर्ड की अहम जानकारी  

इंटरनेशनल बैचलरेट (आईबी), जिसे पहले अंतरराष्ट्रीय स्तर के संगठन (आईबीओ) के नाम से जाना जाता है, एक अंतरराष्ट्रीय शैक्षणिक नींव है जिसका मुख्यालय जिनेवा, स्विट्ज़रलैंड में है और 1968 में स्थापित किया गया था!

140 से अधिक देशों में 3000 से ज्यादा स्कूल हैं। भारत में लगभग 130 स्कूल इस बोर्ड से जुड़े हुए हैं। यह उन शहरों में सबसे प्रचलित है जहां उच्च अंत शिक्षा व्यापक रूप से स्वीकार की जाती है ! आईबी के पास तीन शैक्षणिक कार्यक्रम हैं - 

  • पीजीपी (प्राथमिक वर्ष कार्यक्रम) केजी से कक्षा 5 तक
  • कक्षा 6 से कक्षा 10 तक एमईपी (मध्य वर्ष कार्यक्रम)
  • 11 वीं और 12 वीं कक्षा के लिए डीपी या डिप्लोमा कार्यक्रम

आईबी की कुछ प्रमुख विशेषताएँ हैं

  • एक बहुत ही अलग शिक्षण विधि के साथ अभिनव पाठ्यक्रम डिजाइन किया गया है !
  • फोकस छात्रों के समग्र विकास पर और न केवल अकादमिक प्रदर्शन पर है।
  • पाठ्यक्रम आवेदन और प्रयोग पर आधारित है।
  • यह दुनिया भर के अधिकांश देशों में व्यापक रूप से स्वीकार किया जाता है।
    इन स्कूलों में बुनियादी ढांचा बहुत बेहतर है, क्योंकि उन्हें अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुसार इसे बनाए रखना होता है ।
  • जो माता-पिता जो एनआरआई हैं या नौकरियों के लिए अलग-अलग देशों में जाते हैं, उन्हें यह विकल्प सबसे अच्छा लगेगा।

आईबी बोर्ड के कुछ नुकसान

  • अध्ययन सामग्री और शिक्षक आसानी से उपलब्ध नहीं  होता हैं।
  • स्कूल केवल महानगरीय शहरों में पाए जाते हैं।
  • शुल्क बहुत अधिक हैं ! 

क्या सीबीएसई बोर्ड से यह दोनों शिक्षा बोर्ड बेहतर विकल्प हैं

CBSE बोर्ड के तुलना में इन दोनों ही शिक्षा बोर्ड के स्कूल बड़े महानगरों में ही स्थापित है और इसका फीस भी ज्यादा है ! पाठ्यक्रम एवं गुणवत्ता के अनुसार देखें तो उस संदर्भ में कहा जा सकता है कि CBSE से यह दोनों बोर्ड बेहतर हैं !

उन अभिभावकों के लिए आईबी बोर्ड बेहतर है जो किसी ना किसी वजह से एक देश से दूसरे देश में बसने का इरादा रखते हैं !

आईसीएसई बोर्ड उन छात्रों के लिए अच्छा है जो ज्यादा पढ़ना चाहते हैं क्योंकि इसका का पाठ्यक्रम CBSE से काफी बड़ा होता है ! आईसीएसई और आईबी बोर्ड भारत एवं दुनिया के लगभग सभी देशो से मान्यता प्राप्त है !

दोस्तों, उम्मीद करता हूं कि आपको icse full form in hindi aur ib full form in hindi के साथ आईसीएसई और आईबी बोर्ड की महत्वपूर्ण जानकारी अच्छा लगा होगा ! शिक्षा से संबंधित अन्य लेख के लिंक नीचे दिए गए हैं कृपया इसे भी एक बार जरूर पढ़ें !