जवाहर नवोदय विद्यालय 2019

Navodaya Vidyalaya School

Information in Hindi

 नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा 2017 - 2018, महत्वपूर्ण तिथि, सिलेबस, पैटर्न और जरूरी टिप्स | Jawahar Navodaya Vidyalaya Exam Date

जवाहर नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा कक्षा 6 - 2019

 कक्षा - 9 की जानकारी के लिए लिंक नीचे है. 

कक्षा - 6

JNV Notification 2019 in Hindi यानी जवाहर नवोदय विद्यालय ऑनलाइन फॉर्म भरने की अंतिम तिथि कब है ?JNVST ने 2019 के प्रवेश परीक्षा के लिए नियमों क्या बदलाव किया है ! इसके अलावा इन प्रश्नों का उत्तर भी इस लेख में मिलेगा

  • जवाहर नवोदय विद्यालय समिति के कितने स्कूल है
  • नवोदय में कितने सीट हैं
  • आरक्षण
  • पात्रता की शर्तें यानि योग्यता
  • चयन प्रक्रिया
  • परीक्षा का पैटर्न
  • Navodaya Vidyalaya ki taiyari
  • ऑनलाइन फॉर्म कैसे भरें
  • महत्वपूर्ण तिथि
  • नवोदय की फीस

कितने छात्र नवोदय प्रवेश परीक्षा देते हैं

नवोदय विद्यालय के छात्रों का प्रतियोगिता परीक्षाओं में लगातार बेहतरीन रिजल्ट के कारण अभिभावकों का रुचि पहले से बढ़ा है ! कक्षा 6 के लिए वर्ष 2017 में, 22.5 लाख छात्र परीक्षा के लिए उपस्थित हुए थे जबकि वर्ष 2018 में 28 लाख छात्रों ने उपस्थित दर्ज किया था !

बिना किसी कोचिंग किये, नवोदय के 14,183 छात्रों में 7000 छात्रों को नीट 2017 के परीक्षा के द्वारा मेडिकल कॉलेज में एडमिशन मिला और इसी तरह का प्रदर्शन आईआईटी के परीक्षा में भी देखा गया था !

जवाहर नवोदय विद्यालय समिति के कितने स्कूल है

जवाहर नवोदय विद्यालय समिति के अधिकारिक वेबसाइट के मुताबिक, वर्ष 2016-2017 में नवोदय विद्यालय की संख्या 593 थी ! भारत के सभी जिलों में एक नवोदय विद्यालय का प्रावधान है ! 

2019 के नोटिफिकेशन के अनुसार भारत में कुल 661( तमिलनाडु को छोड़ के) जिसमें 629 विद्यालय फंक्शनल है ! यानी कि शैक्षणिक सत्र 2019 - 2020 में नवोदय के 629 विद्यालय में एडमिशन होगा !

नवोदय में कितने सीट हैं

नवोदय विद्यालय में कक्षा छह के लिए वर्ष 2016-2017 में लगभग 42 हजार सीटें थी और उम्मीद है कि इन सीटों की संख्या में इज़ाफा हुआ है ! प्रत्येक नवोदय स्कूल में कक्षा 6 के लिए अधिकतम 80 एवं न्यूनतम 40 छात्रों का एडमिशन होता है !

आरक्षण

ग्रामीण क्षेत्रों के छात्रों के लिए 75% सीटों को आरक्षित रखा गया है बाकी बचे सीटों पर शहरी क्षेत्र के उम्मीदवारों को चुना जाता है !

अनुसूचित जाति के लिए 15% और अनुसूचित जनजाति के लिए 7.5% से कम हो जाए तो, जिले में उनकी जनसंख्या के अनुपात में प्रदान की जाती है और 33% लड़कियों के लिए आरक्षित हैं ! ट्रांसजेंडर के लिए अलग से कोई आरक्षण की व्यवस्था नहीं है ! दिव्यांग वर्ग के लिए तीन परसेंट सीट आरक्षित है ! 

ग्रामीण क्षेत्र कोटा का आरक्षण किसे मिल सकता है

जो छात्र ग्रामीण क्षेत्र में स्थित विद्यालय में कक्षा 3, 4 और 5 में पढ़ा हो और 2001 के जनगणना के अनुवर्ती क्षेत्र में में चिन्हित नही किया गया हो !

जो छात्र कक्षा 3, 4 एवं 5 में के किसी भी सत्र में शहरी स्कूल में पढ़ा हो, उसे शहरी क्षेत्र का माना जाता है ! इस तरह के छात्र को ग्रामीण कोटे लाभ नहीं मिलता है !

पात्रता की शर्तें यानि योग्यता

पांचवीं कक्षा उत्तीर्ण होने चाहिए और भारत का नागरिक होना आवश्यक है और उनके साथ

उम्रऑनलाइन फॉर्म भरने के लिए उम्मीदवार का उम्र की सीमा निर्धारित है - 01-05-2006 से पहले और 30-04-2010 के बाद जन्म-तिथि वाले फॉर्म नहीं भर सकते हैं ! यानी कि आप यह कह सकते हैं 1 मई 2006 से लेकर 30 अप्रैल 2010 तक जिनका जन्म तिथि है वह फॉर्म भर सकते हैं ! 1 मई और 30 अप्रैल के तिथि को भी गिना जाएगा!

सिर्फ एक चांस

आपको बता दूं कि नवोदय की प्रवेश परीक्षा में केवल एक चांस ही मिलता है, कोई भी अभ्यर्थी किसी भी परिस्थिति में दूसरी बार इस चयन परीक्षा में बैठने के योग्य नहीं है ! यह सभी कैटेगरी के छात्रों पर लागू होता है ! 

चयन प्रक्रिया

अब एक राष्ट्र, एक परीक्षा के सिद्धांत पर पूरे भारत वर्ष के छात्रों के लिए एक ही दिन एक ही समय राष्ट्रीय स्तर पर प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया जाता है !

पिछले साल तक ऑफलाइन फॉर्म भरने का प्रावधान था लेकिन खबरों के मुताबिक वर्ष 2019 के लिए प्रवेश परीक्षा के लिए सिर्फ ऑनलाइन फॉर्म भरा जा सकता है ! आवेदन फॉर्म भरने के लिए किसी प्रकार का शुल्क नहीं लगता है ! 

परीक्षा का पैटर्न

Navodaya Vidyalaya Ki Taiyari सबसे महत्वपूर्ण यह है कि इस परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों का पैटर्न को समझना ! अगर आपके बच्चे सही पैटर्न से इस परीक्षा की तैयारी करते हैं तो कामयाबी मिलने में ज्यादा कठनाई नहीं होगी !

  • परीक्षा में 100 अंक और 80 प्रश्न होंगे।
  • परीक्षा के लिए समय की अवधि 02 घंटे होगी।
  • नेगेटिव मार्क्स नहीं होंगे!
  • दिव्यांग छात्रों को अतिरिक्त समय.

परीक्षा में 100 अंको का विभाजन

  • मानसिक क्षमता टेस्ट - 50 अंक  - 60 मिनट
  • अंकगणित टेस्ट 25 अंक - 30 मिनट
  • भाषा परीक्षण 25 अंक - 30 मिनट

मानसिक क्षमता का परीक्षण (Mental ability Test)

यह एक गैर मौखिक परीक्षा है। प्रश्न केवल आंकड़े और आरेखों पर आधारित हैं। प्रश्न उम्मीदवारों के सामान्य मानसिक कार्यों का आकलन करने के लिए हैं।

अंकगणित परीक्षण (Arithmetic Test)

इस परीक्षा का मुख्य उद्देश्य अंकगणित में उम्मीदवार की बुनियादी दक्षताओं को मापना के लिए है। 

  • संख्या और संख्यात्मक प्रणाली
  • पूरे नंबर पर चार मौलिक संचालन
  • आंशिक संख्या और उन पर चार मौलिक संचालन।
  • उनके गुणों सहित कारक और कई।
  • एलसीएम और संख्या के एचसीएफ
  • उन पर दशमलव और मौलिक संचालन।
  • फ्रैक्टि ऑन के रूपांतरण को दशमलव और उपाध्यक्ष के विपरीत।
  • माप लंबाई, द्रव्यमान, क्षमता, समय, धन आदि में संख्याओं के अनुप्रयोग
  • दूरी, समय और गति
  • अभिव्यक्ति का सृजन।
  • संख्यात्मक अभिव्यक्तियों का सरलीकरण,
  • प्रतिशत और उसके अनुप्रयोग
  • लाभ और हानि।
  • साधारण ब्याज।
  • परिधि, क्षेत्र और मात्रा

भाषा परीक्षण (Language Test)

इस परीक्षा का मुख्य उद्देश्य उम्मीदवारों के पढ़ने की समझ का आकलन करना है। परीक्षण में तीन मार्ग होते हैं। प्रत्येक पारित होने के बाद 5 प्रश्न हैं। उम्मीदवार प्रत्येक पारगमन को सावधानी से पढ़ेंगे और उन सवालों के जवाब देंगे जिन का पालन करें।

इसके अतिरिक्त, उम्मीदवारों के व्याकरण और लेखन कौशल का परीक्षण करने के लिए 10 प्रश्न होंगे। 21 भाषाओं में से आप कोई भी भाषा चुन सकते हैं जिनमें प्रमुख भाषा शामिल हैं वह हैं उर्दू, हिंदी एवं अंग्रेजी आदि !

महत्वपूर्ण तिथि

वर्ष 2018 में 10 फरवरी व 8 अप्रैल को जवाहर नवोदय विद्यालयों का प्रवेश परीक्षा का घोषित हुआ था पर प्रशासनिक कारणों के कारण रद्द हो गया था बाद में यह परीक्षा 21 अप्रैल को हुआ था !

2019 के लिए संभावित तिथि

  • आवेदन फॉर्म भरने की अंतिम तिथि 30 नवंबर 2018
  • एडमिट कार्ड - 1 मार्च 2019
  • परीक्षा की तिथि -  16 अप्रैल 2019 (11:00 बजे) .
  • रिजल्ट - अंतिम सप्ताह मई

नवोदय फॉर्म लास्ट डेट

नवोदय फॉर्म लास्ट डेट अधिकारिक तौर पर घोषित हो चुका है !  

नवोदय नोटिफिकेशन

नवोदय फीस

भारत सरकार के द्वारा पूरी तरह प्रायोजित कार्यक्रम है जिसमें फ्री आवासीय शिक्षा का प्रावधान है ! मानव संसाधन विकास मंत्रालय की तरफ से चलाए जाने वाले लगभग 595 विद्यालय हैं जो लगभग भारत के सभी जिलों में है जिनमें करीब 2,53,931 से ज्यादा छात्र पढ़ रहे हैं !

इन सभी स्कूलों में कक्षा 6 से कक्षा 8 तक किसी प्रकार का फ़ीस नहीं लगता है ! जिसमें स्कूल में पढ़ने, हॉस्टल में रहने व खाने पीने और छात्रों के ड्रेस व जूते-मोजे से लेकर तेल-साबुन तक फ्री में दिया जाता है !

संबंधित लेख - जरूर पढ़ें