नीट परीक्षा क्या है

About Author: M. S. Nashtar

Last Edited: 06 Aug 2019 11:30 PM

नीट परीक्षा क्या है, नीट २०१९, what is neet exam in hindi, neet information in hindi, neet kya hota hai, pmt kya hai, neet kya hai, what is neet in hindi, neet in hindi, neet details in hindi

नीट परीक्षा क्या है ? NEET संबंधित आपके मन में कई प्रश्न होंगे. लेकिन अभी तक आपको सही जानकारी नहीं मिला होगा. अभी भी आपके दिमाग में एक प्रश्न चल रहा होगा कि डॉक्टर आखिरकार कैसे बना जाए. क्या इसके लिए कोई शॉर्टकट है ? 

धैर्य के साथ इस आर्टिकल को आखिर तक पढ़ लीजिए. आपको कुछ आज नया मिलने वाला है. नीट परीक्षा का A To Z जानकारियों को इस लेख में शामिल किया गया है. 

What is NEET Exam In Hindi

व्हाट इस नीट एग्जाम इन हिंदी ? नीट का पूरा नाम नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट होता है. National Eligibility cum Entrance Test को संक्षिप्त में NEET कहा जाता है.  शुद्ध हिंदी में नीट को राष्ट्रीय योग्यता सह प्रवेश परीक्षा कहते हैं. 

राष्ट्रीय योग्यता सह प्रवेश परीक्षा एक राष्ट्रीय स्तर का संस्था है जो पूरे देश के छात्रों के लिए MBBS, BDS, MS, MD & MDS के लिए प्रवेश परीक्षाओं का आयोजन करता है. आगे इसका के ऐतिहासिक परिदृश्य को जानते हैं.

PMT Kya Hai

प्री मेडिकल टेस्ट को शॉर्ट में पीएमटी कहते हैं ! 2016 से पहले भारत के अलग-अलग राज्य अपने कोटे की सीटों के लिए अपना मेडिकल का प्रवेश परीक्षा आयोजित क्या करता था ! उसके साथ साथ केंद्र सरकार भी ऑल इंडिया प्री मेडिकल टेस्ट का परीक्षा आयोजित करता था जिसे AIPMT कहा जाता था !

AIPMT और राज्यों के PMT को मिलाकर पूरे भारत के छात्रों के लिए एक परीक्षा का आयोजन होता है जिसे नीट की संज्ञा दी गई है !

वर्ष 2016 से पहले मेडिकल प्रवेश परीक्षा को ऑल इंडिया प्री-मेडिकल टेस्ट (AIPMT) कहा जाता था ! जिसमें सरकारी मेडिकल कॉलेजों के 15 परसेंट एमबीबीएस एवं बीडीएस के सीटों को भारत सरकार के कोटे के तौर पर भरा जाता था !

बाकी बचे 85 परसेंट सीटों को राज्य सरकार अपने प्रवेश परीक्षा के माध्यम से भरा करते थे जबकि प्राइवेट कॉलेज भी अलग से प्रवेश परीक्षा आयोजन करते थे !

NEET Kya Hota Hai

पीएमटी क्या होता है ? पीएमटी का पूर्ण नाम प्री मेडिकल टेस्ट होता है. वर्ष 2016 से पहले पीएमटी के लिए कई तरह का परीक्षाओं का आयोजन होता था. 

सरकारी मेडिकल व डेंटल कॉलेजों में एडमिशन के लिए केंद्र सरकार एवं राज्य सरकारें अलग-अलग प्रवेश परीक्षा का आयोजन करते थे. निजी मेडिकल और डेंटल कॉलेज अलग अलग प्रवेश परीक्षाएं आयोजन करता था. 

एक छात्र को भारत सरकार एवं उसके राज्य सरकार द्वारा आयोजित मेडिकल प्रवेश परीक्षा का फॉर्म भरना होता था. परीक्षा का स्थान और तिथि भी अलग होता था. इसके अलावा निजी मेडिकल डेंटल कॉलेज के भी फॉर्म अलग भरने होते थे. 

CBSE भारत के सभी सरकारी मेडिकल व डेंटल कॉलेजों के लिए 15% सीटों के लिए PMT - CBSE प्रवेश परीक्षा का आयोजन करता था. कुछ लोग इस को AIPMT के नाम से भी संबोधित करते थे. एआईपीएमटी का फुल फॉर्म ऑल इंडिया प्री मेडिकल होता है. 

बाकी बचे 85% सीटों के लिए राज्य सरकार अपने अपने राज्य का प्रवेश परीक्षा का आयोजन करता था. 

जिससे छात्रों को अलग-अलग परीक्षाओं का तैयारी करना होता था. फॉर्म भरने एवं अलग-अलग स्थानों पर जाकर परीक्षा देने का भी खर्च उसे ही वाहन करना पड़ता था. इसके अलावा प्रवेश परीक्षाओं में धांधली भी हुआ करता था. 

नरेंद्र मोदी के सत्ता में आने के बाद मानो कि सब कुछ बदल ही गया. इन सब परीक्षाओं के जगह, एक नीट परीक्षा आयोजन होना 2016 से शुरू हुआ था. 

नीट परीक्षा से किन कॉलेजों में एडमिशन मिलता है

भारत के तीन मेडिकल कॉलेजों (AIIMS, JIPMER एवं AFMC) को छोड़कर बाकी सभी सरकारी एवं गैर सरकारी मेडिकल एवं डेंटल कॉलेजों में एडमिशन सिर्फ और सिर्फ नीट परीक्षा के द्वारा ही होता है. 

आपको बता दूं कि भारत में सरकारी मेडिकल कॉलेजों में भारत सरकार का कोटा 15 परसेंट का होता है. जबकि राज्य सरकारों का कोटा 85 परसेंट का होता है.

प्राइवेट मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में दाखिला भारत के किसी भी काबिल छात्र का हो सकता है. इस में राज्यों का कोटा निर्धारित नहीं होता है. 

सभी तरह के कोटों को नीट परीक्षा के द्वारा ही छात्रों को एडमिशन मिलता है चाहे वह राज्य सरकार का कोटा हो या केंद्र सरकार का कोटा या कॉलेज प्राइवेट क्यों ना हो. 

नीट परीक्षा कितने प्रकार के होते हैं

नीट परीक्षा दो प्रकार के होते हैं. पहला NEET-UG और दूसरा NEET-PG होता है. नीट - यूजी परीक्षा का आयोजन एमबीबीएस व बीडीएस (अंडर ग्रेजुएट) कोर्स में एडमिशन के लिए होता है. जबकि नीट - पीजी परीक्षा का आयोजन एम.एस एवं एम.डी ( पोस्ट ग्रेजुएट) कोर्स के लिए होता है. 

नीट परीक्षा का आयोजन कौन सा संस्था करता है

भारत सरकार का मिनिस्ट्री ऑफ ह्यूमन रिसोर्स डेवलपमेंट ने NTA नाम का संस्था को स्थापित किया है. जो पूरी तरह ऑटोनॉमस और सेल्फ सस्टेंड प्रीमियर टेस्टिंग ऑर्गेनाइजेशन है. जो पूरी तरह आधुनिक है और अंतरराष्ट्रीय स्तर का स्टैंडर्ड को मेंटेन करता है. 

एनटीए के वेबसाइट पर ही आपको नीट परीक्षा के लिए फॉर्म भरने की सुविधा उपलब्ध होता है. इसके अलावा आप इस वेबसाइट पर Answer Key और Results देख सकते हैं. इस वेबसाइट का अधिकारिक पता ntaneet.nic.in है. 

नीट से संबंधित समाचार

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने नीट के लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया है. 2019 के लिए नीट परीक्षा का आयोजन 5 मई को किया जाएगा. अब यह तय हो चुका है कि नीट परीक्षा का आयोजन साल में एक बार ही होगा. परीक्षा का आयोजन भी पेन व पेपर के माध्यम से करवाया जाएगा. 

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद आधार कार्ड की अनिवार्यता तत्काल लागू नहीं किया गया है. सभी भाषाओं के प्रश्न पत्र सेट एक जैसे ही होंगे. ओपन से प्लस टू करने वाले छात्र भी इस बार नीट की परीक्षा दे पाएंगे. 

नीट परीक्षा का महत्वपूर्ण तिथि

नीट का नोटिफिकेशन आ गया है, एमबीबीएस व बीडीएस की तैयारी करने वाले छात्र जिसका लंबे समय से इंतजार कर रहे थे. परीक्षा की तिथि 5 मई (रविवार) 2019 दिन के 10:00 बजे यानि 05-05-2019 (SUNDAY) 10:00 am, घोषित हुआ है. 

  • ऑनलाइन फॉर्म भरने की अंतिम तिथि - 1 से 30 नवंबर 2018
  • एडमिट कार्ड जारी होने की तिथि - 15 अप्रैल
  • नीट परीक्षा का रिजल्ट - 5 जून (प्रस्तावित)

नीट - 2020 का नोटिफिकेशन अभी नहीं आया है. नोटिफिकेशन आने पर सबसे पहले आपको यहां पर अपडेट मिलेगा.

नीट 2020 प्रवेश परीक्षा वह छात्र शामिल हो सकता है जो यह मापदंड पूरा कर सकता है

  • छात्रों को भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और जीवविज्ञान के साथ अपनी 10 + 2 शिक्षा पूरी कर लिया हो और उन्होंने न्यूनतम 50% अंक (आरक्षित वर्ग के मामले में 40%) प्राप्त किया हो या जिसने 2020 का बोर्ड परीक्षा दिया हो. 
  • न्यूनतम आयु: 2020 के 31 दिसंबर या उससे पहले के रूप में व्यक्तिगत आवेदन कम से कम 17 वर्ष का होना चाहिए. 
  • अधिकतम आयु: व्यक्तिगत आवेदन 25 वर्ष से कम (अनारक्षित उम्मीदवारों के लिए) और 30 साल (अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग) के लिए होना चाहिए. 
  • राष्ट्रीयता: आवेदक भारतीय राष्ट्रीय या अनिवासी भारतीय (NRIs), भारतीय नागरिकों (OCIs), भारतीय मूल के व्यक्ति (PIOs), विदेशी राष्ट्रीय होना चाहिए।
  • जम्मू-कश्मीर / एपी / तेलंगाना: जम्मू-कश्मीर / एपी / तेलंगाना से एनईईटी 2020 उम्मीदवार एक अखिल भारतीय 15% कोटा के हकदार होंगे, यदि वे स्वयं-घोषणा प्रस्तुत करते हैं. 
  • आधार कार्ड की आवश्यकता : भारतीय नागरिकों को आधार संख्या विवरण देना होगा और आवेदन पत्र भरते समय अंतरिक्ष में 18 अंकों की संख्या भरना अनिवार्य नहीं होगा. 

नीट का पाठ्यक्रम क्या है

नीट सिलेबस नीट 2019 की तरह ही रहेगा. नीट 2019 के सिलेबस के हिसाब से आप तैयारी शुरू कर सकते हैं. सीबीएसई के 11 वीं एवं 12 वीं कक्षा के पाठ्यक्रम में कोई बदलाव थोड़ा हुआ है. सीबीएसई की 11 वीं एवं 12 वीं कक्षाओं की पाठ्यक्रम से ही नीट प्रवेश परीक्षा में प्रश्न पूछे जाते हैं. 

नीट परीक्षा का पैटर्न क्या है

नीट परीक्षा का मोड ऑफलाइन होता है. जिसमें पेपर पेन से परीक्षा का संचालन किया जाता है जिसमें कुल प्रश्नों की संख्या 180 होता है. जो चार विषयों (भौतिकी, रसायन, जूलॉजी और वनस्पति विज्ञान) में बराबर विभाजित होता है. 

एक प्रश्न का सही उत्तर करने पर चार अंक मिलता है. जबकि एक प्रश्न का गलत उत्तर देने पर एक अंक कुल प्राप्त अंक से कम कर दिया जाता है. 

  • भौतिकी - 180
  • रसायन - 180
  • जूलॉजी और वनस्पति विज्ञान - 360

NEET 2020 में एमबीबीएस सीटों संख्या कितनी है

सरकारी कॉलेजों में एमबीबीएस और बीडीएस की करीब 28,000 सीटें हैं. जिनमें भारत सरकार एवं राज्य सरकारों के कॉलेज शामिल है. यह सीटों का नंबर घट सकता है या बढ़ भी सकता है क्योंकि मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के द्वारा हर साल कॉलेज की मान्यता बदलती हैं किसी की मान्यता खत्म हो जाती है तो कुछ नए मेडिकल कॉलेज को मान्यता मिल जाता है. 

भारत के सभी मेडिकल कॉलेजों के लिए ( एक्सेप्ट एम्स वजिप्मेर) प्रवेश परीक्षा का आयोजन नीट करता है जिसमें 15 परसेंट सेंट्रल गवर्नमेंट का कोटा है. जिसमें भारत के किसी भी छात्र को एडमिशन मिल सकता है जिसका संख्या लगभग चार हजार है. 

नीट में छात्रों की संख्या कितने होते हैं

पिछला नीट परीक्षा का आयोजन 7 मई 2017 को हुआ था जिसमें 11,38,890 से ज्यादा छात्रों ने अपना किस्मत आजमा आया था. नीट 2018 में 12 से 13 लाख छात्रों का शामिल हुए थे !

वर्ष 2019 के लिए लगभग 15 लाख छात्रों ने नीट परीक्षा में शामिल होने के लिए फॉर्म भरा है. 

नीट 2020 के लिए आवेदन कैसे करें

वर्ष 2020 का नोटिफिकेशन नहीं आया है. वर्ष 2019 में इस तरह से भरा गया था. उम्मीदवारों को आवेदन प्रक्रिया के सफल समापन के लिए आधार कार्ड होना अब आवश्यक नहीं है. ऑनलाइन फॉर्म ऑफ खुद से भर सकते हैं निम्नलिखित टिप्स का पालन करें -

  • पंजीकरण - आवेदन पत्र भरने के लिए नीट की वेबसाइट पर रजिस्टर करें। भविष्य में फिर से लॉगइन होने के लिए पासवर्ड और ID को याद रखें. 
  • आवेदन पत्र भरना
    आपको अपने व्यक्तिगत विवरण, परीक्षा का चयन केंद्र, शैक्षणिक विवरण और पता और माता-पिता का विवरण भरना होगा. 
  • दस्तावेज अपलोड करना
    उपर्युक्त विवरण भरने के बाद, आपको अपना पासपोर्ट आकार का फोटो, हस्ताक्षर और बाएं हाथ अंगूठे इंप्रेशन (छात्र) या दाएं हाथ का अंगूठा इंप्रेशन ( छात्रा) अपलोड करने के लिए कहा जाएगा. 
  • शुल्क भुगतान
    डेबिट / क्रेडिट कार्ड
    नेट बैंकिंग
    विभिन्न सेवा प्रदाताओं की ई वॉलेट
    ऑफलाइन मोड- चालान के माध्यम से.
  • पुष्टिकरण पेज
    भुगतान के सफल समापन के बाद, एक पुष्टिकरण पृष्ठ तैयार किया जाएगा। निम्नलिखित पते पर अपने भुगतान के प्रमाण के साथ पृष्ठ के प्रिंट आउट लें और इसे सीबीएसई पर भेजें:
    सहायक सचिव (नीट)
    केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड,
    शिक्षा केन्द्र 2, सामुदायिक केंद्र,
    प्रीत विहार, दिल्ली - 110092
नीट काउंसिलिंग कब और कैसे होता है

नीट रिजल्ट 2020 , मई के पहले या दूसरे सप्ताह में जारी होगा जिसे नीट अपने वेबसाइट पर ऑनलाइन जारी करता है. रिजल्ट के बार काउंसलिंग की तिथि घोषित होती है ! 3 से 4 काउंसलिंग होता है. 

नीट का काउंसिलिंग कैसे करें 

  • काउंसिलिंग प्रक्रिया में योग्य उम्मीदवारों को ऑनलाइन पंजीकरण करना आवश्यकता होता है. 
  • एक बार ऑनलाइन पंजीकरण करने के बाद, आप अपनी वरीयता के अनुसार पाठ्यक्रम और कॉलेजों का चयन कर सकते हैं. चयन के बाद आप उसे लॉक कर सकते हैं. 
  • आपके एनईटी रैंक के आधार पर सीट आवंटन की प्रक्रिया तीन राउंड में आयोजित की जाती है. 
    हालांकि अधिकांश संस्थान एक केंद्रीकृत परामर्श प्रक्रिया (ऑनलाइन सेंट्रल काउंसलिंग) का पालन करते हैं, कुछ में उनकी अपनी परामर्श प्रक्रिया हो सकती है. 
मेडिकल कॉलेज में एडमिशन कैसे होता है

काउंसलिंग के बाद उम्मीदवारों को निर्देशित समय अवधि के भीतर आवंटित कॉलेजों में रिपोर्ट करना होता है, उसके साथ जरूरी कागजात भी साथ ले जाना होता है. 

मेडिकल कॉलेज में एडमिशन के लिए आवश्यक दस्तावेज़
  • हाई स्कूल और इंटरमीडिएट मार्कशीट्स
  • हाई स्कूल और इंटरमीडिएट पासिंग सर्टिफिकेट
  • नीट 2019 प्रवेश पत्र
  • नीट 2019 रैंक पत्र
  • श्रेणी प्रमाणपत्र (आरक्षित श्रेणी उम्मीदवारों के लिए)
  • जन्म प्रमाणपत्र
  • 8-10 पासपोर्ट आकार का फोटो
  • ऑनलाइन आवंटित प्रमाण पत्र
  • पहचान प्रमाण (आधार कार्ड)
  • सभी प्रमाण पत्रों के फोटो कॉपी. 

Related Posts