नीट परीक्षा क्या है  

नीट परीक्षा क्या है, नीट २०१९, what is neet exam in hindi, neet information in hindi, neet kya hota hai, pmt kya hai, neet kya hai, what is neet in hindi, neet in hindi, neet details in hindi, neet exam in hindi, नीट एग्जाम, neet क्या है, neet exam kitni baar de sakte hai

What is NEET Exam in Hindi

अगर आपके मन में यह सवाल उठ चुका है कि डॉक्टर कैसे बनें ! एक लेखक के तौर पर मेरा दायित्व बनता है कि आपको डॉक्टर बनने के लिए सही और संतुलित जानकारी दी जाए ! What is neet exam in hindi यानी नीट परीक्षा क्या है, से संबंधित संपूर्ण जानकारी चाह रहे हैं तो लेख को आखिर तक ज़रूर चेक करें !

PMT Kya Hai

प्री मेडिकल टेस्ट को शॉर्ट में पीएमटी कहते हैं ! 2016 से पहले भारत के अलग-अलग राज्य अपने कोटे की सीटों के लिए अपना मेडिकल का प्रवेश परीक्षा आयोजित क्या करता था ! उसके साथ साथ केंद्र सरकार भी ऑल इंडिया प्री मेडिकल टेस्ट का परीक्षा आयोजित करता था जिसे AIPMT कहा जाता था !

AIPMT और राज्यों के PMT को मिलाकर पूरे भारत के छात्रों के लिए एक परीक्षा का आयोजन होता है जिसे नीट की संज्ञा दी गई है !

वर्ष 2016 से पहले मेडिकल प्रवेश परीक्षा को ऑल इंडिया प्री-मेडिकल टेस्ट (AIPMT) कहा जाता था ! जिसमें सरकारी मेडिकल कॉलेजों के 15 परसेंट एमबीबीएस एवं बीडीएस के सीटों को भारत सरकार के कोटे के तौर पर भरा जाता था !

बाकी बचे 85 परसेंट सीटों को राज्य सरकार अपने प्रवेश परीक्षा के माध्यम से भरा करते थे जबकि प्राइवेट कॉलेज भी अलग से प्रवेश परीक्षा आयोजन करते थे !

NEET Kya Hota Hai

NEET शब्द का फुल फॉर्म नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (National Eligibility cum Entrance Test) है जबकि इसे हिंदी में राष्ट्रीय योग्यता सह प्रवेश परीक्षा कहां जाता है !

“ एक देश एक प्रवेश परीक्षा ” के सिद्धांत पर 2016 से नीट परीक्षा का आयोजन शुरू हुआ था जो पूरे भारत के छात्रों के लिए MBBS व BDS में प्रवेश के लिए परीक्षा का आयोजन करता आ रहा है !

नीट की जरूरत क्यों पड़ा - छात्रों को मेडिकल में प्रवेश के लिए अलग-अलग प्रवेश परीक्षा में शामिल होना पड़ता था उसके साथ अनेक फॉर्म भरना, अलग-अलग तिथियों एवं अलग-अलग स्थानों पर जाकर एग्जाम देने के मजबूर होना पड़ता था ! जिसमें छात्र एवं छात्राओं के साथ उनके अभिभावकों को काफी परेशानी होती थी, उसके साथ ज्यादा खर्च भी सहन करना पड़ता था !

मेडिकल प्रवेश परीक्षा में धांधली की खबर किसी से छुपा नहीं है जो कि 2016 से पहले बहुत ज्यादा होता था !

भारत सरकार एवं भारत के सर्वोच्च न्यायालय के प्रयासों से पूरे भारत वर्ष के छात्रों के लिए एक मेडिकल प्रवेश परीक्षा सफल आयोजन 2016 से हो रहा है ! प्रवेश परीक्षा में भ्रष्टाचार कम हुआ एवं छात्रों के साथ अभिभावकों की भी परेशानी पहले से कम हो गया !

नीट परीक्षा से किन कॉलेजों में एडमिशन मिलता है ?

भारत के तीन मेडिकल कॉलेजों (AIIMS, JIPMER एवं AFMC) को छोड़कर बाकी सभी सरकारी एवं गैर सरकारी मेडिकल एवं डेंटल कॉलेजों में एडमिशन सिर्फ और सिर्फ नीट परीक्षा के द्वारा ही होता है !

आपको बता दूं कि भारत में सरकारी मेडिकल कॉलेजों में भारत सरकार का कोटा 15 परसेंट का होता है जबकि राज्य सरकारों का कोटा 85 परसेंट का होता है ! प्राइवेट मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में दाखिला भारत के किसी भी काबिल छात्र का हो सकता है ! इस में राज्यों का कोटा निर्धारित नहीं होता है ! 

सभी तरह के कोटों को नीट परीक्षा के द्वारा ही छात्रों को एडमिशन मिलता है चाहे वह राज्य सरकार का कोटा हो या केंद्र सरकार का कोटा या कॉलेज प्राइवेट क्यों ना हो !

नीट परीक्षा के प्रकार

नीट परीक्षा दो प्रकार के होते हैं पहला NEET-UG और दूसरा NEET-PG ! नीट - यूजी परीक्षा का आयोजन एमबीबीएस व बीडीएस (अंडर ग्रेजुएट) कोर्स में एडमिशन के लिए होता है जबकि नीट - पीजी परीक्षा का आयोजन एम.एस एवं एम.डी ( पोस्ट ग्रेजुएट) कोर्स के लिए होता है !

 

 

 

सामान्य एवं OBC कैटेगरी के लिए प्रवेश परीक्षा शुल्क 1400 ₹ है जबकि ST और SC कैटेगरी के छात्रों के लिए 750 ₹ रखा गया है ! 

नीट परीक्षा क्या है और इसका संबंध NTA से किया है ? नीट परीक्षा का नोटिफिकेशन कब जारी होगा ? नीट परीक्षा से संबंधित संपूर्ण जानकारी आपको इस लेख में मिलेगा !

नीट से संबंधित समाचार

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने नीट के लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया है ! 2019 के लिए नीट परीक्षा का आयोजन 5 मई को किया जाएगा ! अब यह तय हो चुका है कि नीट परीक्षा का आयोजन साल में एक बार ही होगा ! परीक्षा का आयोजन भी पेन व पेपर के माध्यम से करवाया जाएगा ! कृपया लेख को अंत तक ज़रूर पढ़ें !

बिहार की बेटी बनी नीट टॉपर, पढ़ने के लिए क्लिक करें

 नीट 2019

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद आधार कार्ड की अनिवार्यता तत्काल लागू नहीं किया गया है ! सभी भाषाओं के प्रश्न पत्र सेट एक जैसे ही होंगे ! ओपन से प्लस टू करने वाले छात्र भी इस बार नीट की परीक्षा दे पाएंगे !

नीट २०१९, नीट 2019, नीट परीक्षा क्या है, योग्यता, सिलेबस, पैटर्न एवं अन्य जानकारी, नीट समाचार, नीट एडमिट कार्ड, नीट रिजल्ट, नीट काउंसलिंग

मुख्य बिंदु

  • नीट एवं AIPMT में फर्क
  • कब से लागू हुआ
  • नीट २०१९
  • नीट 2019
  • कौन दे सकता है परीक्षा
  • महत्वपूर्ण तिथि
  • एमबीबीएस - बीडीएस सीटों की संख्या
  • प्रवेश प्रक्रिया
  • ऑनलाइन आवेदन कैसे करें 
  • काउंसलिंग प्रक्रिया
  • एडमिशन के समय दस्तावेज
  • प्रयासों की संख्या
  • छात्रों की संख्या

एक भारत एक प्रवेश परीक्षा” के सिद्धांत पर 2016 से नीट परीक्षा का आयोजन किया गया, जिसमें पूरे भारत के छात्रों के लिए एमबीबीएस व बीडीएस में प्रवेश के लिए परीक्षा का आयोजन हुआ, जिसे राष्ट्रीय पात्रता व प्रवेश परीक्षा यानि National Eligibility cum Entrance Test (नीट) कहा गया !

नीट एवं AIPMT में फर्क

वर्ष 2016 से पहले मेडिकल प्रवेश परीक्षा को ऑल इंडिया प्री-मेडिकल टेस्ट (AIPMT) कहा जाता था ! जिसमें सरकारी मेडिकल कॉलेजों के 15 परसेंट एमबीबीएस एवं बीडीएस के सीटों को भारत सरकार के कोटे के तौर पर भरा जाता था ! बाकी बचे 85 परसेंट सीटों को राज्य सरकार अपने प्रवेश परीक्षा के माध्यम से भरा करते थे जबकि प्राइवेट कॉलेज भी अलग से प्रवेश परीक्षा आयोजन करते थे !

नीट की जरूरत क्यों पड़ा

छात्रों को मेडिकल में प्रवेश के लिए अलग-अलग प्रवेश परीक्षा में शामिल होना पड़ता था उसके साथ अनेक फॉर्म भरना, अलग-अलग तिथियों एवं अलग-अलग स्थानों पर जाकर एग्जाम देने के मजबूर होना पड़ता था ! जिसमें छात्र एवं छात्राओं के साथ उनके अभिभावकों को काफी परेशानी होती थी, उसके साथ ज्यादा खर्च भी सहन करना पड़ता था ! सामान्य एवं OBC कैटेगरी के लिए प्रवेश परीक्षा शुल्क 1400 ₹ है जबकि ST और SC कैटेगरी के छात्रों के लिए 750 ₹ रखा गया है ! मेडिकल प्रवेश परीक्षा में धांधली की खबर किसी से छुपा नहीं है जो कि 2016 से पहले बहुत ज्यादा होता था !

सरकार एवं न्यायालय का इतिहासिक प्रयास

भारत सरकार एवं भारत के सर्वोच्च न्यायालय के प्रयासों से पूरे भारत वर्ष के छात्रों के लिए एक मेडिकल प्रवेश परीक्षा सफल आयोजन 2016 से हो रहा है ! प्रवेश परीक्षा में भ्रष्टाचार कम हुआ एवं छात्रों के साथ अभिभावकों की भी परेशानी पहले से कम हो गया ! नीट परीक्षा से संबंधित आपको कई विवाद सुनने को मिले होंगे लेकिन अब इन विवादों से कोई लेना-देना नहीं है ! क्योंकि यह एक सख्त कानून बन गया है जिसमें भारत के सभी छात्रों को इस परीक्षा से गुजरना होगा जो प्राइवेट या सरकारी मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस या बी डी एस की पढ़ाई करना चाहते हैं !

नीट परीक्षा से किन कॉलेजों में एडमिशन मिलता है ?

भारत के तीन मेडिकल कॉलेजों (AIIMS, JIPMER एवं AFMC) को छोड़कर बाकी सभी सरकारी एवं गैर सरकारी मेडिकल एवं डेंटल कॉलेजों में एडमिशन सिर्फ और सिर्फ नीट परीक्षा के द्वारा ही होता है ! आपको बता दूं कि भारत में सरकारी मेडिकल कॉलेजों में भारत सरकार का कोटा 15 परसेंट का होता है जबकि राज्य सरकारों का कोटा 85 परसेंट का होता है ! प्राइवेट मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में दाखिला भारत के किसी भी काबिल छात्र का हो सकता है इस में राज्यों का कोटा निर्धारित नहीं होता है ! सभी तरह के कोटों को नीट परीक्षा के द्वारा ही छात्रों को एडमिशन मिलता है चाहे वह राज्य सरकार का कोटा हो या केंद्र सरकार का कोटा या कॉलेज प्राइवेट क्यों ना हो !

नीट परीक्षा के प्रकार

नीट परीक्षा दो प्रकार के होते हैं पहला NEET-UG और दूसरा NEET-PG ! नीट - यूजी परीक्षा का आयोजन एमबीबीएस व बीडीएस (अंडर ग्रेजुएट) कोर्स में एडमिशन के लिए होता है जबकि नीट - पीजी परीक्षा का आयोजन एम.एस एवं एम.डी ( पोस्ट ग्रेजुएट) कोर्स के लिए होता है !

नीट परीक्षा का महत्वपूर्ण तिथि

नीट का नोटिफिकेशन आ गया है, एमबीबीएस व बीडीएस की तैयारी करने वाले छात्र जिसका लंबे समय से इंतजार कर रहे थे ! परीक्षा की तिथि 5 मई (रविवार) 2019 दिन के 10:00 बजे यानि 05-05-2019 (SUNDAY) 10:00 am, घोषित हुआ है !

ऑनलाइन फॉर्म भरने की अंतिम तिथि - 1 से 30 नवंबर 2018

एडमिट क%E