क्या सच में डूब जाएगा, बैंकों में आपका जमा किया गया रुपया - पूरी सचाई यह है

By: Aleena Farheen Last Edited: 04 Mar 2019 01:24 AM

क्या सच में डूब जाएगा बैंकों में आपका जमा पैसा

इन दिनों सोशल मीडिया पर तेजी से यह खबर वायरल हो रहा है कि आपके बैंकों में जमा किया गया रुपया डूब जाएगा ! क्योंकि सरकार नया कानून बनाने जा रहा है इस कारण ऐसा होने वाला है !

इस गलत न्यूज़ को फैलाने वाले को कामयाबी तेजी से मिल रहा है क्योंकि लोग नोटबंदी जैसे कानून से डरे और सहमे हुए हैं ! इसको देखते हुए भारत के वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली का बयान आया है ! 

फाइनेंशियल रिसॉल्यूशन एंड डिपॉजिट इंश्योरेंस बिल क्या है

इस खबर में कहीं पर भी कोई सच्चाई नहीं है ! सरकार नया एक कानून बनाने जा रहा है जिस कानून का नाम फाइनेंशियल रिसॉल्यूशन एंड डिपॉजिट इंश्योरेंस बिल 2017' (FRDI Bill) है  !

यह बिल अभी स्टैंडिंग कमेटी के पास है जिसके बारे में लोगों को ज्यादा कुछ नहीं पता है  ! हां भारत के वित्त मंत्री यह कह रहे हैं कि इस में बैंकों के साथ साथ ग्राहकों के भी हित का ध्यान रखा जाएगा !

मौजूदा क्या नियम है

अगर कोई बैंक डूब जाता है तो ऐसे में आप के द्वारा बैंकों में जमा किया गया कुल राशियों में से सिर्फ आपको एक लाख रुपये का इंश्योरेंस मिला हुआ है !

इसका मतलब यह हुआ कि अगर आपके खाते में दस लाख रूपया जमा था और बैंक डूब गया तो आपको सिर्फ एक लाख रुपया वापस मिलेगा !

अगर आपका बैंक खाता अलग-अलग बैंकों में है और हर बैंक खाते में आपका एक लाख रूपय जमा है तो आप का एक भी रुपया नहीं डूबे गा ! इसकी और विस्तृत जानकारी आरबीआई के वेबसाइट (rbi.org.in) से आप ले सकते हैं !

सरकार का नया कानून क्या है

फाइनेंशियल रिसॉल्यूशन एंड डिपॉजिट इंश्योरेंस बिल के द्वारा ग्राहकों एवं बैंकों के हितों के रक्षा के लिए और असरदार कानून बनाने का प्रावधान किया जा रहा है !

जब कोई बिल स्टैंडिंग कमेटी के पास होता है तो उस बिल में क्या है इसकी जानकारी सिर्फ सरकार को होती है, आम लोगों को नहीं होता है !

जब तक यह बिल संसद के पटल पर नहीं रखा जाएगा, तब तक इस बिल की विश्वसनीय जानकारी जनता को नहीं मिल पाएगा !

NPA Kya Hota Hai

आप जो पैसे बैंकों में जमा करते हैं, उस पैसे को बैंक लोन के तौर पर लोगों को देती है ! उससे जो कमाई होता है, उसे इंटरेस्ट के तौर पर बैंक अपने ग्राहकों को देती है !

लेकिन बैंक ने जिसे लोन दिया उसने पैसे वापस नहीं किया तो, ऐसे में वह पैसा डूब जाता है उसे इंग्लिश में नॉन परफॉर्मिंग एसेट्स (NPA) कहते हैं !

आपने कई समाचार पत्रों में यह पढ़ा होगा कि बैंकों का पैसे लेकर बड़े उद्योगपति भाग गये ! इसका मतलब यह हुआ कि उन्होंने बैंक को चूना लगा दिया !

बैंकों के पास जो पैसा होता है, वह आम आदमी के द्वारा जमा किया गया रकम होता है ! ऐसा सालों से होता आ रहा है, कुछ बैंक डूबने के कगार पर आ चुका है !

लेकिन डूबने वाले बैंक को सरकार मदद करती है सरकारी खजाने से, जो आपके टैक्स से जमा होता है ! सरकार इसलिए ऐसा करती है कि देश की अर्थव्यवस्था की सेहत दुरुस्त रहे और आने वाले दिनों में बैंक कमाई करके सरकार को पूरा पैसा वापस कर देगी !

कौन सा बैंक में खाता खुलवाएं

सरकारी भरोसे के अनुसार आपका पैसा अभी सुरक्षित है लेकिन भविष्य में क्या होगा यह कोई नहीं जानता था ! 

लेकिन आप उन बैंकों में पैसा जमा करें जिस का एनपीए (NPA) बहुत कम हो !

अफवाह पर ध्यान देने के बजाय यह पता करें जिस बैंक में आपका पैसा जमा है उसका एनपीए (NPA) कितना है ! जितना कम होगा एनपीए (NPA), आपका पैसा उतना ही सुरक्षित रहेगा !