What is Equity Share in Hindi

What is Equity Share in Hindi - “इक्विटी शेयर”

“इक्विटी शेयर”

“इक्विटी शेयर” उसे कहते हैं जिसमें लाभांश तय नहीं होता है और जिसमें निवेशक यानी शेयर होल्डरों को मालिक माना जाता है ! मान लीजिए कि किसी कंपनी ने अपने 100 शेयरों को मार्केट में बेच दिया और किसी निवेशक ने उसमें से 20 शेयर को खरीद लिया इसका यह मतलब हुआ कि निवेशक अब उस कंपनी का 20% हिस्सेदार है !

कम्पनी अपने सभी कर्ज व कर्ज का ब्याज और प्रेफरेंश शेयरहोल्डरों का बकाया रकम चुकाने के बाद इक्विटी शेयर होल्डरों को लाभांश के साथ मूलधन वापस देता है ! इक्विटी शेयर होल्डरों को ही कम्पनी के मामलों में मत का अधिकार होता है जो लोकतांत्रिक होता है ! जिसके पास ज्यादा शेयर होते हैं वही बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर को सुन सकते हैं !

कंपनी को ज्यादा बड़ा फायदा होने पर सबसे ज्यादा फायदा इक्विटी शेयर होल्डरों क्या होता है ! उस के विपरीत कंपनी के डूब जाने या फिर नुकसान होने पर सबसे ज्यादा नुकसान भी इक्विटी शेयर होल्डरों का होता है !

इक्विटी शेयर को प्राइमरी एवं सेकेंडरी मार्केट से खरीदा जा सकता है ! आईपीओ या एफपीओ प्राइमरी मार्केट कहते हैं जबकि मान्यता प्राप्त ब्रोकर को सेकेंडरी मार्केट कहते हैं !

आम भाषा में कहे तो आप निवेशक सिर्फ इक्विटी शेयर ही खरीद सकते हैं जिसके लिए आपके पास डीमैट अकाउंट होना चाहिए !

 

संबंधित लेख