आकाशीय बिजली क्या है

 आकाशीय बिजली

आकाशीय बिजली या तड़ित को अंग्रेजी में Lightning कहते हैं जबकि कुछ स्थानीय भाषा में  ठनका या कड़का भी कहते हैं ! आसमानी बिजली गिरने से मौत की खबर सुना होगा ! दोस्तों, इस लेख के जरिए आपको आकाशीय बिजली क्या है और इस प्राकृतिक घटना से कैसे बचाव किया जा सकता है !

आकाशीय बिजली से रक्षा संभव है, बेंजामिन फ्रैंकलिन ने कई दशक पहले ही इस प्रणाली को विकसित किया था ! इसके संसाधन भारत के छोटे शहरों में भी उपलब्ध है लेकिन जानकारी के अभाव में हजारों लोग हर साल जान गवांते हैं ! इस लेख को अंत तक ध्यान से पढ़िए, आपको उचित एवं विश्वसनीय जानकारी मिलेगा !

आकाशीय बिजली की परिभाषा - आकाश में बादलों के बीच घर्षण होने से अचानक इलेक्ट्रोस्टैटिक चार्ज का निर्वहन होता है, जो आमतौर पर आंधी या बारिश के दौरान होती है ! भारी मात्रा में चार्ज जमीन के तरफ आता है, जिसे हम प्रकाश के रूप में देख पाते और ध्वनि की कड़कड़ाहट हमारे कानों तक पहुंचती है, इस पूरे प्रक्रिया को आकाशीय बिजली कहते हैं !

आसमानी बिजली गिरने के संकेत

lightning hindi

जब आसमानी बिजली गिरने वाला होता है, सबसे पहले प्रकाश आप को दिखाई पड़ता है और उसके कुछ देर के बाद ध्वनि सुनाई पड़ता है ! क्योंकि आप जानते हैं लाइट का स्पीड साउंड से ज्यादा होता है ! बिजली गिरने का स्पीड साउंड से भी कम होता है !

इसका मतलब यह हुआ कि प्रकाश कौर ध्वनि के संकेत से हम समझ सकते हैं कि आसमानी बिजली गिरने वाला है ! जब आप बादल गरजने ध्वनि सुनते हैं तो आपके रोंगटे खड़े हो जाते होगें ! इसका साफ-साफ मतलब है कि आकाशीय बिजली आसपास कहीं पर गिरने वाला है !

आकाशीय बिजली के प्रभाव

आकाशीय बिजली भी एक प्रकार का बिजली है जो आकाश से जमीन की तरफ निर्वहन करता है ! किसी भी बिजली को एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाने के लिए कंडक्टर (संचालक) माध्यम की आवश्यकता होती है !

कंडक्टर माध्यम वह माध्यम होता है जिसमें विद्युत एक छोर से दूसरे छोर तक पार कर सकता हो, मनुष्य के द्वारा भी विद्युत पार कर सकता है ! आकाशीय बिजली भी से हमारे शरीर होते हुए जमीन पर जाना चाहता है !

आकाशीय बिजली में कुछ ही सेकेंडों के लिए होता है लेकिन कई हजार वोल्ड का करंट होता है जो मनुष्य की जान लेने के लिए काफी होता है ! उसी प्रकार हमारे इलेक्ट्रिकल एप्लायंसेज को भी खराब करने के लिए यह काफी होता है !

आकाशीय बिजली वह सभी कुछ प्रभावित हो सकता है जो बिजली के लिए गुड कंडक्टर हो ! आकाशीय बिजली निर्वहन के लिए हमेशा ज्यादा कंडक्टर पदार्थ को चुनता है ! आकाशीय बिजली से सबसे ज्यादा प्रभावित वह चीज होता है जो सबसे ज्यादा विधुत का संचालक होता है !

आकाशीय बिजली से बचाव

आकाशीय बिजली से बचाव

दोपहर के समय अगर आसमान में बादल छाया है सबसे ज्यादा बिजली गिरने का चांस इसी समय होता है ! मौसम की जानकारी से भी हमें पता चल जाता है कि आसमान में कब बादल छाने की संभावना है ! आप जहां भी रहते हैं आप अपने मोबाइल फोन के द्वारा मौसम की जानकारी हासिल कर सकते हैं !

अगर आप घर से बाहर हैं आकाशीय बिजली गिरने की संभावना अगर आपको लग रहा है तो ऐसे में इन बातों का ध्यान जरूर रखें ! बिजली के खंबे, ऊंचे वृक्ष, पानी के जमाव और बिजली के सभी संचालक चीजों से दूर रहें !

बिजली गिरने के बाद तुरंत घर से बाहर ना निकले ! अगर आप किसी दूरदराज के खेतों में हैं तो ध्यान रखें कि अपने सिर को दोनों जांघों के बीच में ले आए ! अगर आपके छतरी में मेटल का छड़ हो तो उसे अपने आप से दूर कर दें ! किसी भी मेटल के सामान को अपने पास ना रखें, उसके साथ-साथ अपने पास जो भी बिजली के संचालक हैं उस से दूरी बनाकर रखें ! गंदा पानी भी विद्युत का संचालक होता है उससे भी दूरी बनाकर रखें !

मनुष्य के शरीर में जिस पॉइंट से आकाशीय बिजली घुसता है और जिस पॉइंट से बाहर (तलवा) निकलता है सबसे ज्यादा प्रभाव इसी क्षेत्र में होता है ! मनुष्य को सबसे ज्यादा प्रभाव दिमाग और दिल पर करता है जो मौत का कारण बन सकता है !

अगर कोई व्यक्ति आकाशीय बिजली से प्रभावित होता है तो उसे तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएं उसको छूने से, आपको कोई करंट नहीं लगेगा !

आकाशीय बिजली गिरने की संभावना होने पर इन चीजों या स्थानों से रहें दूर -

  • जल जमाव क्षेत्र
  • जिस घर में धातु उपयोग नहीं हुआ हो या नींव में धातु ना हो
  • धातु के स्टोव
  • पुआल के ढेर
  • पहाड़ियों के ऊंची चोटियों
  • एकांत बडे़ वृक्ष
  • बिजली के खंभे और ऊंचे टॉवर
  • धातु से बनी वस्तुओं को हाथ या शरीर से दूर रखें

सुरक्षित स्थान

धातु के ढाँचेवाले घरों में, जिनकी नींव काफी गहरी हो और नींव में गहराई तक धातु का उपयोग हुआ हो सुरक्षित स्थान माना जाता है ! अगर आप घर से बाहर हो तो गाड़ी के अंदर ही रहे ! पहाड़ों की कंदराओं में, घने और छोटे पेड़ों, और रेत वाले जमीन रहना थोड़ा सुरक्षित है !

आकाशीय बिजली से घरों की रक्षा कैसे करें

आकाशीय बिजली से आज के समय अपने घर को आप सुरक्षित कर सकते हैं ! अगर आप अपने घर का निर्माण करवा रहे हैं तो ध्यान रखें कि घर का कोई ना कोई क्षेत्र काफी ऊंचा हो ! घरों का नींव काफी गहराई तक हो और मेटल का छडो़ का उपयोग काफी नीचे तक हो !

अगर आपने घर का निर्माण करवा रखा है तो उसके लिए भी उपाय कर सकते हैं ! तड़ित दंड या (Lightning rod) के उपयोग से अपने घर को सुरक्षित कर सकते हैं !

Lightning Arrester Hindi

Lightning Arrester को विकसित करने का श्रेय बेंजामिन फ्रैंकलिन को दिया गया है ! दुनिया का सबसे सर्वश्रेष्ठ तरीका है जिनसे आप अपने घरों को आकाशीय बिजली या ठनका से सुरक्षित रख सकते हैं ! लाइटनिंग अरेस्टर को आप अपने घर में भी बना सकते हैं या बना हुआ मार्केट से खरीद सकते हैं !

Lightning Arrester Hindi

 

लाइटनिंग अरेस्टर के भाग

नुकीला ऊपरी छड़ - लोहे का एक नुकीला छड़ को घर के सबसे ऊंचे भाग वाले छत पर लगाया जाता है ! छड़ को पूरी तरह सीधा रखकर उसे फिक्स किया जाता है ताकि आंधी के समय तिरछा या हिलने संभावना ना रहे !

अर्थिंग - घर के बाहर गहरा गड्ढा करके छड़ को अंदर डाला जाता है जिसे Earthing कहते हैं !

नुकीला ऊपरी छड़ और अर्थिंग को काफी मजबूती के साथ कॉपर या अलमुनियम वायर से जोड़ा जाता है ! ध्यान रखने वाली बात यह है कि यह वायर मोटा होना चाहिए, क्योंकि कुछ ही सेकंड के लिए कई हजार एंपियर करंट, आकाशीय बिजली गिरने से उत्पन्न हो जाता है !

जब आकाश की बिजली गिरता है तो उसे सबसे ज्यादा संचालक पदार्थ की आवश्यकता होती है जिससे वह जमीन के अंदर जा सके ! अगर किसी भवन में Lightning Arrester का उपयोग हुआ है, तो ऐसे में आकाश की बिजली लाइटनिंग अरेस्टर द्वारा जमीन के अंदर चला जाता है !