How to Create a Website in Hindi Language  

वेबसाइट बनाने की प्रक्रिया व वेबसाइट बनाने की विधि

 

How to Make Website in Hindi Language

 

How to Create a Website in Hindi Language & How to Make Website in Hindi Language शब्दों के जरिए हम भारतीय यह जानना चाहते हैं कि अपनी वेबसाइट कैसे बनाये अगर यह आप सोच रहे हैं तो यह लेख के आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है, कृपया इस लेख को अंत तक पढ़े !

 

अक्सर लोग अपने बिजनेस के लिए वेबसाइट बनाते हैं जिससे वह अपना बिजनेस बढ़ा सके या कुछ ऐसे लेखक हैं जो न्यूज़ एवं जानकारी वाली वेबसाइट बनाना चाहते हैं जिससे वह कमाई करना चाहते हैं ! आज के समय सबसे बड़ा प्रश्न यह है कि अगर आप के नाम के आगे आपके काम का या स्थान कीवर्ड को गूगल पर सर्च करें तो क्या आता है ! क्योंकि दुनिया तेजी से डिजिटल वर्ल्ड के तरफ बढ़ रहा है, अगर आपकी पहचान Google पर नहीं है तो आने वाले समय में आपकी पहचान छोटी पड़ सकती है !

 

How to make website free in hindi

 

दोस्तों मैं आपको यह बताना चाहता हूं कि आप चाहे अपनी वेबसाइट बनाएं या फिर किसी दूसरे वेबसाइट पर अपना डिटेल पोस्ट करें, जो भी करें, लेकिन Google सर्च में आपका नाम पहले पेज पर आना चाहिए !

अक्सर लोग बहुत समय बर्बाद कर देते हैं, फ्री वेबसाइट कैसे बनाये के नाम पर, आपको बता दूं कि इंटरनेट पर ऐसा कोई भी वेबसाइट नहीं है जो हंड्रेड परसेंट फ्री आपको वेबसाइट बनाकर दे दें ! हां आप ब्लॉगिंग वेबसाइट पर अपना ब्लॉग बना सकते हैं, लेकिन उस पर URL आपका कुछ ऐसा होगा -

https://kulhaiyacom.blogspot.in

ब्लॉग स्पॉट डॉट इन यह Google का वेबसाइट है जहां आप के लिए सेवाएं फ्री रखा गया है !

 

वेबसाइट बनाने की प्रक्रिया व वेबसाइट

बनाने की विधि

वेबसाइट बनाने की प्रक्रिया व वेबसाइट बनाने की विधि सरल शब्दों में | How to Make Website in Hindi Language

 

अपनी वेबसाइट शुरू करना चाहते हैं और आप वेबसाइट बनाने का तरीका जानना चाह रहे हैं तो नीचे स्टेप वॉइस जानकारी दिया गया है, ध्यान से पढ़ें -

1 # सबसे पहले डोमेन खरीदें

इंटरनेट पर जो आपका पता होता है उसे डोमेन कहा जाता है जैसे इस वेबसाइट का डोमेन का नाम है -

Kulhaiya.com

इससे आप 500 से 1000 रुपए देकर गो डैडी जैसे कई वेबसाइट है जहां से आप डोमेन खरीद सकते हैं ! डोमेन खरीदने के समय इन चीजों का रखें ध्यान -

  • आप जो काम करना चाह रहे हैं उस पर वह नाम है या नहीं
  • Google पर उसकी कीवर्ड पर ट्रैफिक है या नहीं
  • इसका पता आप गूगल एडवर्ड से कर सकते हैं

2 # वेबसाइट डिजाइन

वेबसाइट का सबसे बड़ा पार्ट होता है उसका डिजाइन, अगर आपकी वेबसाइट का डिजाइन बहुत अच्छा है, लोगों के बीच एक अच्छा इंप्रेशन जाता है ! डोमेन खरीदने के बाद आप वेबसाइट डिजाइनर से अपने वेबसाइट के रिक्वायरमेंट के हिसाब से डिजाइन करवाएं ! बहुत सारी वेबसाइट है जो बना बनाया डिजाइन भी बेचता है जिससे आप सीधे खरीद सकते हैं, लेकिन वह डिजाइन यूनिक नहीं होता है उस डिजाइन को कई और लोग पहले से ही इस्तेमाल कर रहे होते हैं !

3 # वेबसाइट डेवलपमेंट

वेबसाइट डिजाइन के बाद उस पर जान डालने वाली बात होती है यानी कि उसे फंक्शनल बनाना, यह काम वेबसाइट  डेवलपर करते हैं ! डेवलपर पर निर्भर करता है कि आप का वेबसाइट कितना फंक्शनल होगा, और कितना फास्ट पेज ओपन होता है !

4 # वेबसाइट होस्टिंग

यह सब होने के बाद आपके वेबसाइट के लिए होस्टिंग होना चाहिए ! आपको बताना चाहता हूं कि वेबसाइट होस्टिंग क्या होता है ? आपकी वेबसाइट का जो भी डाटा होता है उसे सर्वर पर डालना होता है, सर्वर का मेंटेनेंस करने वाले कंपनी आपसे सालाना कुछ फीस लेते हैं !

दुनिया में कई बड़ी कंपनी है जो आपके वेबसाइट को होस्टिंग प्रदान करता है उसके लिए आपसे पहले साल कम फीस लेता है लेकिन अगले साल फीस थोड़ा बढ़ जाता है !

5 # वेबसाइट का एसईओ

वेबसाइट का एसईओ (SEO) क्या होता है ? वेबसाइट को किसी पर्टिकुलर कीवर्ड पर गूगल या अन्य सर्च इंजन पर उसे पहले रैंक पर लाना, उसे एसईओ कहते हैं ! आपने वेबसाइट बना लिया और उस पर आपने लेख भी लिख दिया, अब प्रश्न उठता है कि उस पर ट्रैफिक कैसे आएगा ! वेबसाइट पर ट्रैफिक लाने के कई तरीके हैं जिसमें सबसे पहला माध्यम Google है दूसरा माध्यम सोशल मीडिया होता है!

एसईओ आप अपने से भी कर सकते हैं और कुछ एजेंसियां हैं जो यह सेवाएं प्रदान करती हैं, आप उनसे भी करवा सकते हैं !

6 # वेबसाइट का किंग लेखक होता है

चाहे आपका बिजनेस वेबसाइट हो या न्यूज़ वेबसाइट हो या जानकारी देने वाला साइट, इन सभी प्रकार के वेबसाइट का लेखक किंग होता है ! लेखक वह होता है जो किसी भी टॉपिक पर लेख लिखता है ! जैसे मैं आपके लिए यह लेख लिख रहा हूं कि अपना वेबसाइट कैसे बनवाएं ! आपको यहां पर लगता होगा कि कुछ वाक्य सही नहीं है !

ऐसे वाक्य लिखना मेरा मजबूरी है क्योंकि google को यूनिक सेंटेंस चाहिए तभी इसको वह फ्रेश कंटेंट मानता है ! जो भी अच्छे सेंटेंस होते हैं, उसे बड़े वेबसाइट पहले लिख चुके हैं, अगर मैं 6 शब्दों का वाक्य को लिखता हूं और वह किसी वेबसाइट पर पहले से ही लिखा है, इसका मतलब ये हुआ कि यह कंटेंट कॉपी किया गया है ! कॉपी किया गया कंटेंट को गूगल कभी भी सर्च में रैंक नहीं देता है !

आपके द्वारा लिखे गए लेख ही आपके वेबसाइट का भविष्य होता है, वेबसाइट बनवाने से पहले यह जरूर सोच लें कि मैं खुद से लेख लिखूंगा या फिर किसी लेखक से कंटेंट राइटिंग करवाऊंगा ! अगर आप लेखक हैं या फिर लेखक बनने की इच्छा रखते हैं तो जरूर अपना वेबसाइट बनवाएं इसमें आपका भविष्य बहुत ही अच्छा हो सकता है !

कितना खर्च आता है वेबसाइट बनवाने में ?

आज के समय वेबसाइट बनाने की टेक्नोलॉजी में काफी बदलाव आया है जिसके कारण वेबसाइट बनाने का खर्च काफी कम हो चुका है अगर आप वर्डप्रेस के प्लेटफार्म पर वेबसाइट बनवाना चाहते हैं, इसमें खर्च काफी कम आ जाता है! आपको बता दूं की वेबसाइट दो प्रकार के होते हैं एक स्टेटिक दूसरा डायनामिक ! कभी भी डायनामिक वेबसाइट ही बनवाए क्योंकि उसका कंटेंट आप समय-समय पर अपडेट कर सकते हैं या नया कंटेंट डाल सकते हैं ! वर्डप्रेस पर डायनामिक वेबसाइट बनाने में 3 हजार से लेकर 10 हजार तक का खर्च आता है !

वेबसाइट से कैसे कमाई होता है ?

जब आपके वेबसाइट पर मंथली ट्रैफिक 50000 से ऊपर होता है तब आपके वेबसाइट पर Google एडसेंस एड पोस्ट कर देता है ! जब कोई विजिटर आपके वेबसाइट आता है और वह google adsense के एड पर क्लिक कर है, तो आपको उसके लिए google adsense पैसे देता है!

क्या लोकल बिजनेस के लिए भी वेबसाइट होना चाहिए

आपका बिजनेस चाहे छोटा हो या बड़ा ऑनलाइन परजेंस आवश्यक हो गया है क्योंकि आज के समय हर भारतीय परिवार से कोई ना कोई सदस्य इंटरनेट से जुड़ा है ! कोई भी सेवा लेने से पहले या कोई भी समान खरीदने से पहले वह google पर सर्च जरूर करता है ! अगर ऐसे में आपका वेबसाइट उसे google के पहले पेज पर दिख जाता है तो आपका बिजनेस जरूर बढ़ जाएगा ! आज के डिजिटल दुनिया में बिजनेस बढ़ाने के लिए वेबसाइट का होना आवश्यक है !

वेबसाइट का मेंटेनेंस कॉस्ट

डोमेन और होस्टिंग का कॉस्ट हर साल चुकाना होता है उसके साथ वेबसाइट पर भी कुछ तकनीकी खराबी आता है जिसे डेवलपर से सही करवाना होता है ! जिसके लिए 2000 से लेकर 5000 तक का खर्च आ सकता है ! बाकी आप कंटेंट खुद से लिखते हैं तो उसका कोई खर्च नहीं आता है, अगर आप किसी से कंटेंट लिखवाते हैं तो उसके लिए आपको उसे खर्च देना होगा !

 

 संबंधित लेख

 

वेबसाइट के प्रकार

गूगल एडसेंस से कमाई कैसे करें

मशीन और गैजेट्स संबंधित लेख

गैजेट्स और मशीन किसे कहते हैं और क्या होता है

ऑनलाइन सस्ता और किफायती खरीदारी करने के टिप्स

एसी व डीसी करंट का उपयोग कैसे अलग करे

वेबसाइट कैसे बनवाएं और रखें इन बातों का ध्यान