Kidney Stone Home Remedy in Hindi

Kidney Stone Home Treatment in Hindi

किडनी के घरेलू उपचार

गुर्दे की पथरी व इन्फेक्शन के लिए 15 घरेलू उपचार

मुख्य बिंदु

  • पथरी हटाने के घरेलू नुस्खे
  • किडनी इन्फेक्शन से कैसे बचाव करें
  • पथरी का टेस्ट कैसे होता है
  • क्या खाने से पथरी बनता है 
  • पथरी के बीमारी क्या न खाएं 
  • 100 परसेंट साइंटिफिक समाधान

 

Home remedies for kidney disease in hindi 

Kidney stone home remedy hindi

Kidney stone pain relief at home in hindi.

किडनी के घरेलू उपचार को लेने से पहले, एक बार डॉक्टर से बात जरुर करना चाहिए खासकर उन लोगों के लिए जिसको पहले से कोई और बीमारी हो ! एंटीबायोटिक, मूत्रवर्धक, रक्तचाप, कोलेस्ट्रॉल, और जिगर की दवाएं किडनी के घरेलू हर्बल उपचार के साथ इंटरेक्ट करती है, इसीलिए डॉक्टर से सलाह मशवरा करना सही माना जाता है ! किडनी को स्वस्थ कैसे रखें, आज हमारे लिए एक बड़ा चैलेंज है !

Symptoms of kidney stone in hindi

किडनी में पथरी बनने से लेकर इन्फेक्शन होना आज के दिनों में आम बात हो गया है ! लोग सोचते हैं कि मेरे की किडनी एक बार पथरी बना और उसे हमने सर्जरी से बाहर निकलवा दिया ! हमें कभी और पथरी नहीं होगा यह सोचना एकदम गलत है ! किडनी की प्रवृति होती है कि अगर एक बार उसने पथरी बनाना शुरू कर दिया तो वह बार-बार बनाते रहता है ! और हम बार-बार सर्जरी नहीं करवा सकते इसलिए आपको खाने पीने में खास एहतियात बरतना होगा !

Kidney infection symptoms in hindi

किडनी इन्फेक्शन भी कुछ ऐसा ही होता है जब हम एंटीबायोटिक खाते हैं तो कोई दिनों के लिए हमारी परेशानी बिल्कुल खत्म हो जाती है लेकिन कुछ दिनों के बाद फिर से वह प्रॉब्लम आ जाता है, नीचे बताए गए हैं कुछ जूस के बारे में जिसके पीने से इंफेक्शन होने के चांसेस कम हो जाता है !

  1. पानी - Water

किडनी पथरी बनने से रोकने का सबसे बड़ा इलाज पानी है ! यह दो बातों पर निर्भर करता है पहला पानी की क्वालिटी दूसरा आप कितना पानी पीते हैं ! मनुष्य जो पानी पीता है वह मिनरल वाटर होता है और मिनरल वाटर में मिनरल कितने प्रतिशत है इस पर भी निर्भर करता है किडनी का स्टोन बनना ! कैल्शियम, मैग्नीशियम एवं फास्फेट का प्रतिशत पता कर लें जो पानी आप पी रहे हैं !

मनुष्य को प्रतिदिन कितना पानी पीना चाहिए ?

इसमें लोगों की राय थोड़ी अलग अलग है लेकिन मेडिकल साइंस के अनुसार से कम से कम एक इंसान को प्रतिदिन 2 लीटर यानी 8 गिलास पानी कम से कम पीना चाहिए ! अगर किसी को किडनी स्टोन की शिकायत है तो जरूर उसे 2 लीटर से ज्यादा पानी पीने चाहिए ! पानी पीने से किडनी साफ हो जाता है, स्टोन बनने वाला कंपाउंड वहां पर इकट्ठा नहीं हो पाता है और जिससे स्टोन बनने की शिकायत कम हो जाती है !

  1. कुरथी का पानी - कुलथी - Macrotyloma uniflorum

 

कुरथी / कुलथी का औषधि प्राचीन समय से मानव के बीच में प्रचलित है, लेकिन आज के समय इस को सबसे ज्यादा लोग किडनी के पथरी को हटाने के लिए उपयोग करते हैं ! इसमें ऐसे केमिकल पाए जाते हैं जो किडनी में बने पथरी को छोटा कर देता है और वह छोटा पथरी पेशाब के रास्ते से बाहर आ जाता है !

उपयोग करने की विधि - इसे रात भर पानी में भिगोया जाता है और उस का पानी को दिन में तीन से चार बार तक पिया जाता है जो किडनी के पथरी के इलाज के लिए बहुत लाभकारी सिद्ध हो सकता है !

  1. सिंहपर्णीे का रस - Dandelion

सिंहपर्णीे में ऐसे केमिकल्स पाए जाते हैं जो लीवर से लेकर किडनी में अनावश्यक केमिकल्स को हटाने में मदद करता है ! किडनी में बने स्टोन को हटाने में भी काफी मददगार साबित होता है !

आयुर्वेद के दुकान पर सिंहपर्णीे के चूर्ण उपलब्ध होते हैं जिसे पानी में या चाय में मिलाकर लिया जा सकता है दिन में दो से तीन बार तक लिया जा सकता है !

  1. ट्रिबुलुस टररेस्त्रिस - Tribulus Terrestris

 

ट्रिबुलुस टररेस्त्रिस के पौधे एवं फल में मूत्र में फॉस्फेट कम करने वाला केमिकल पाया जाता है जो किडनी में पत्थरी बनने के चांस को बहुत हद तक कम कर देता है !

ट्रिबुलुस टररेस्त्रिस के पौधे एवं फल को सीधे भी खाया जा सकता है या इस का जूस बनाकर भी पीया जा सकता है दिन में एक बार पीना काफी होता है !

  1. तुलसी - Basil

तुलसी में एसिटिक एसिड नाम का योगिक मिलता है जो किडनी में यूरिक एसिड से बने पथरी को तोड़ने में काफी मददगार होता है !

तुलसी का पत्ता प्रतिदिन उपयोग करने से किडनी के इलाज में मददगार साबित हो सकता है ! तुलसी के पत्ते का पाउडर अब मार्केट में भी उपलब्ध है !

  1. गेहूं छोटे पौधे का जूस - Wheat

गेहूं छोटे पौधे का जूस किडनी पथरी के इलाज का रामबान माना जाता है क्योंकि इसमें एंटी ऑक्सीडेंट की मात्रा बहुत ज्यादा होता है उसके साथ ऐसे और भी कंपाउंड होते हैं जो मूत्र की मात्रा को बढ़ा देता है ! मूत्र की मात्रा बढ़ने से मूत्र मार्ग साफ हो जाता है जिससे पत्थर इकट्ठा नहीं हो पाता है !

गेहूं छोटे पौधे का जूस बनाने के लिए पहले आपको गेहूं को पानी में भीगने होंगे, फिर उसे अंकुरित करना होगा ! जब गेहूं का अंकुर बड़ा हो जाए तो उसका जूस बनाकर पानी के साथ पीना चाहिए !

  1. यूर्वा उर्सी - Uva Ursi

 

यूर्वा उर्सी एक जड़ी है जो विसर्जक (disinfectant) और विलायक गुणों भरा होता है ! मूत्र मार्ग के रास्ते को साफ करता है एवं मूत्र मार्ग में फंसे पत्थर को भी बाहर निकाल देता है !

यूर्वा उर्सी थोड़ी-थोड़ी मात्रा दिन में तीन बार लिया जा सकता है जो सबसे ज्यादा किडनी पथरी के इलाज के लिए अब तक अच्छा माना गया है ! इस तरह का प्रोडक्ट मार्केट में भी मिलता है !

  1. नींबू का रस - Lemon juice

नींबू में साइट्रिक एसिड होता है, जो कैल्शियम के यौगिक को किडनी में बनने से रोकता है उसके साथ बने यौगिक को तोड़ने में भी मदद करता है ! अध्ययन से यह पता चला है कि अगर कोई नींबू का रस सुबह-सुबह खाली पेट पानी के साथ मिलाकर पीता है तो वह ज्यादा लाभकारी साबित हो होता है ! मार्केट में नींबू फ्लेवर वाला बहुत सारे जूस उपलब्ध है लेकिन उसको पीने से कम फायदे की उम्मीद है क्योंकि उसमें साइट्रेट का प्रतिशत कम होता है जबकि अन्य फ्लेवर ज्यादा होते हैं  ! ताजा नींबू के रस को ज्यादा बेहतर माना जाता है किडनी के इलाज के लिए !

  1. सेब साइडर सिरका - Apple Vinegar

नींबू की तरह सेब साइडर सिरका में साइट्रिक एसिड होता है जो कैल्शियम के यौगिक को किडनी में बनने से रोकता है उसके साथ बने यौगिक को तोड़ने में भी मदद करता है !

दो चम्मच सेब साइडर सिरका पानी के साथ मिलाकर खाली पेट पीने से ज्यादा फायदा हो सकता है !

  1. अजवाइन रस या बीज - Celery

 

गेहूं छोटे पौध की तरह अजवाइन रस या बीज एंटीऑक्सिडेंट्स है किडनी स्टोन के उपचार के लिए बेहद फायदेमंद है !

अजवाइन का रस बनाने के लिए एक या दो अजवाइन डंठल को पानी से मिश्रित किया जा सकता है। रोज़ एक गिलास पीना चाहिए !

  1. राजमा - पानी - Kidney bean

राजमा में मैग्नीशियम की मात्रा प्रचुर होता है जो किडनी के पथरी के लिए लाभकारी है !

राजमा - पानी बनाने की विधि - राजमे बीज का छिलका निकाल कर इसे पानी में धीरे-धीरे गर्म किया जाता है, 5 से 6 घंटे के बाद इस पानी को पीने में उपयोग किया जा सकता है ! एक दिन में एक से दो बार किया जा सकता है !

  1. जैतून का तेल - Olive Oil

जैतून का तेल में ज्यादा चिकनाई वाला केमिकल होता है जो मूत्र मार्ग में ज्यादा फिसलन पैदा कर पाता है जिससे फंसे हुए पत्थर को बाहर निकालने में मददगार साबित हो सकता है!

जैतून का तेल पानी में मिलाकर सुबह खाली पेट लेना ज्यादा अच्छा माना जाता है, उसके साथ खाना भी इसके साथ पकाकर खाने में लाभकारी सिद्ध होता है !

  1. अनार का रस - Pomegranate

अनार के जूस में एस्टेरीजेंट (astringent) और एंटीऑक्सिडेंट होता है जो किडनी में पथरी बनने से रोकता है और उनके साथ पेशाब को ज्यादा एसिडिटी भी नहीं होने देता है ! पेशाब में जलन कम करने में काफी मददगार साबित होता है !

अनार का बीज या उसका जूस बनाकर सेवन किया जा सकता है दिन में एक बार से ज्यादा बार भी लिया जा सकता है !

  1. अजमोद रस - Parsley Juice

 

जब किसी के किडनी में पथरी होता है तो संक्रमण का भी चांस बढ़ जाता है, अजमोद रस में ऐसे केमिकल पाए जाते हैं गुर्दे में मौजूद विषाक्त पदार्थों और सूक्ष्मजीवों को बाहर निकाल सक्षम होता है !

अजमोद रस बनाने की विधि - अजमोद को पानी में गर्म किया जाता है जब पानी ठंडा हो जाता है इसे दिन में एक बार किया जा सकता है !

  1. क्या ना खाएं - किडनी की पथरी से बचने के लिए

डिहाइडिंग फूड एवं चीनी, नमक, और अल्कोहल गुर्दे की पथरी बनने में मदद करता है ! ऑक्सलेट योगिक पाए जाने वाले चीजों को खाने से भी किडनी में पथरी बनता है ! अगर आपका पथरी सर्जरी के द्वारा या खुद पेशाब के रास्ते से बाहर निकल आया है तो ऐसे में उसे फेंकिए मत ! आज के समय में पथरी का टेस्ट करवाने से यह पता चल जाता है कि क्या खाने से यह पथरी किडनी में बना था और उस खाने को आप अपने डाइट चार्ट से हटा सकते हैं या कम कर सकते हैं ! अगर आप किडनी स्टोन से बचना चाहते हैं तो इसे मत खाइएगा -

  • एक प्रकार का फल
  • आलू के चिप्स
  • पालक
  • बादाम
  • ओकरा
  • टमाटर के बीज
  • रेड मीट

किडनी में पथरी दोबारा ना बने इसके लिए क्या करें ?

दोस्तों आप चाहते हैं कि आपके किडनी में दोबारा पथरी ना बने इसके लिए आपको एक टेस्ट करवाना होगा ! आप जो भी इलाज ले रहे हैं अगर उन से पथरी निकल रहा है तो उसको संभाल कर रखें या सर्जरी के द्वारा पथरी निकलता है तो भी उसे संभाल कर रखें ! आप उस पथरी टेस्ट करा कर यह जान सकते हैं कि क्या-क्या खाने से यह पथरी बना था ! जब आप मूत्र त्याग करते हैं तो चाय की छननी का उपयोग कर कर मुत्र से पथरी को निकाल सकते हैं !

फूरियर ट्रांसफ़ॉर्म इन्फ्रारेड स्पेक्ट्रोस्कोपी, जिसे एफटीआईआर एनालिसिस (FTIR) या एफटीआईआर स्पेक्ट्रोस्कोपी भी कहते हैं जिससे किडनी का पथरी क्या खाने से बना है उसको यह टेस्ट बता देता है !  

एफटीआईआर क्या होता है

आप फोटो में देख पा रहे हैं कि यह एक पेशेंट का टेस्ट रिजल्ट है जिसमें यह दिखाया गया है कि क्या खाने से यह पथरी बना था और वह क्या क्या ना खाएं !  मुख्यतः देखा गया है कि अोगजिलेट एवं यूरिक एसिड के कंपाउंड से किडनी में पथरी का निर्माण होता है !

 

Related Searches - जरूर पढ़ें