जनसंख्या वृद्धि के कारण और उस पर निबंध

By: Sonal Jha Last Edited: 18 Jan 2019 05:43 PM

जनसंख्या वृद्धि, जनसंख्या वृद्धि के कारण, जनसंख्या पर निबंध

प्रिय मित्र क्या आप, जनसंख्या पर निबंध लिखने का सोच रहे हैं ? जनसंख्या वृद्धि क्या है ? जनसंख्या वृद्धि के सभी कारणों को जानना चाह रहे हैं ? जनसंख्या वृद्धि पर आप सामान्य ज्ञान को मजबूत करना चाह रहे हैं ?

इन सभी प्रश्नों का उत्तर आपको इस लेख में मिलेगा ! चाहे आप किसी परीक्षा में इसलिए को लिखना चाह रहे हैं ! किसी प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं ! आपके लिए यह लेख उत्तम है ! कृपया आखिर तक ज़रूर पढ़ें !

जनसंख्या पर निबंध कैसे लिखें

आप किसी भी विषय पर निबंध लिखने हेतु कुछ बातों का ध्यान रखना आवश्यक होता है ! सबसे पहले विषय का परिचय देना चाहिए ! मान लें कि आप Essay on population growth in hindi को लिखना चाहते हैं !

परिचय के बाद यथास्थिति को  लिखना चाहिए ! उसके बाद उसके कारणों को व्यवस्थित ढंग से लिखना चाहिए ! निष्कर्ष में उसके पॉजिटिव एवं नेगेटिव पॉइंट्स को जरूर लिखना चाहिए !

जनसंख्या वृद्धि दर क्या है

"जनसंख्या वृद्धि दर" वह दर है, जिस में व्यक्तियों की संख्या एक निश्चित अवधि में बढ़ जाती है ! प्रारंभिक आबादी के एक अंश के रूप में व्यक्त की जाती है !

जनसंख्या वृद्धि दर सूत्र

जनसंख्या वृद्धि दर = (जन्म दर + आप्रवासन) - (मृत्यु दर + उत्प्रवासन)

भारत के जनगणना में, जनसंख्या वृद्धि दर 10 सालों का निकाला जाता है ! जबकि इसे प्रतिवर्ष अभी निकाला जा सकता है !

भारत का जनसंख्या वृद्धि कितना है

2011 के जनगणना के अनुसार (2001 से 2011), भारत जनसंख्या वृद्धि दर 17.64% रहा है ! जबकि पिछले दशक में (1991 से 2001) 21.54% था ! पिछले दो दशकों को देखें तो जनसंख्या वृद्धि दर में 3.9% गिरावट देखा गया है !

भारत में हिंदू जनसंख्या वृद्धि दर कितना है

2011 के जनगणना के अनुसार (2001 से 2011), भारत में हिन्दू जनसंख्या वृद्धि दर 16.76% रहा है ! जबकि पिछले दशक में (1991 से 2001) 19.92% था ! पिछले दो दशकों को देखें तो जनसंख्या वृद्धि दर में 3.16% गिरावट देखा गया है !

भारत में मुस्लिम जनसंख्या वृद्धि दर कितना है

2011 के जनगणना के अनुसार (2001 से 2011), भारत में मुस्लिम जनसंख्या वृद्धि दर 24.6% रहा है ! जबकि पिछले दशक (1991 से 2001) 29.52% था ! पिछले दो दशकों को देखें तो जनसंख्या वृद्धि दर में 4.92% गिरावट देखा गया है !

भारत के किस राज्य में सबसे ज्यादा जनसंख्या वृद्धि दर है

अगर भारत के राज्यों की बात करें सबसे ज्यादा जनसंख्या वृद्धि दर (27.8 %) मेघालय का है ! अगर केंद्र शासित प्रदेश की बात करें तो सबसे ज्यादा जनसंख्या वृद्धि दर (55.5%) दादरा और नगर हवेली का है ! भारत के बड़े राज्यों में सबसे ज्यादा जनसंख्या वृद्धि दर (25.1%) बिहार में है !

दुनिया का जनसंख्या वृद्धि दर कितना है

दुनिया में जनसंख्या वर्तमान में (2017) प्रति वर्ष लगभग 1.12% की दर से बढ़ रही है ! जबकि वर्ष 2016 में 1.14% था ! अगर पिछले 10 सालों का आंकड़े को मिला कर देखें तो 11 से 12% के बीच रहा है !

यूएन डीईएसए की एक नई रिपोर्ट के मुताबिक, विश्व की जनसंख्या 2030 तक 8.5 अरब, 2050 में 9.7 अरब और 2100 में 11.2 अरब तक पहुंचने की उम्मीद है। इसके अलावा यह भी संभावना व्यक्त की गई है कि 2032 तक भारत की जनसंख्या चीन को पार कर जाएगा !

2050 तक जनसंख्या की स्थिति क्या होगी

1991 से 2001 के 10 सालों में हिंदू जनसंख्या वृद्धि दर 19.92% और मुस्लिम जनसंख्या वृद्धि दर 29.52% रहा था, जिसमें प्रतिशत में अंतर 9.6 का रहा था !

2001 से 2011 के 10 सालों में हिंदू जनसंख्या वृद्धि दर 16.76% और मुस्लिम जनसंख्या वृद्धि दर 24.6% रहा था, जिसमें प्रतिशत में अंतर 7.84 का रहा था !

अगर दोनों दर्शकों का अंतर देखे तो पता चलता कि 9.6 - 7.84 = 1.76 है ! 2021 के जनगणना में लगभग 2 प्रतिशत का अंतर रहेगा !

2011 की जनगणना के अनुसार, भारत की आबादी का 79.8% हिंदू धर्म मानते हैं और 14.2% इस्लाम धर्म मानते हैं ! जबकि शेष 6% अन्य धर्मों (ईसाई धर्म, सिख धर्म, बौद्ध धर्म, जैन धर्म और विभिन्न स्वदेशी आस्था वाले धर्मों) को मानते हैं !

भारत में लगभग 96.63 करोड़ हिंदू हैं, जबकि लगभग 17.22 करोड़ मुसलमान हैं !

इन आंकड़ों से साफ पता चलता है कि मुस्लिम पापुलेशन 2050 तक काफी तेजी से बढ़ेगा ! जबकि हिंदू पापुलेशन मुसलमानों की अपेक्षा कम तेजी से बढ़ेगा !

जनसंख्या वृद्धि के कारण

जनसंख्या बढ़ने के कई कारण हो सकते हैं ! जिसे नीचे लिखा गया है ! इसके अलावा भी जनसंख्या बढ़ने के कारण हो सकते हैं !

धर्म और संस्कृति

भारत की जनसंख्या में अलग-अलग धर्म एवं संस्कृति के लोग रहते हैं ! जनसंख्या नियंत्रण करने के साधनों में कमी नहीं है ! लेकिन हमारा धर्म और संस्कृति इसके बाधक बन जाते हैं ! दूरदराज के गांव कस्बों में रहने वाले लोगों तक गर्भनिरोधक की सही जानकारी भी नहीं पहुंच पाता है !

मृत्यु दर में कमी

भारत में पिछले कई दशकों से मेडिकल सुविधाएँ बढ़ा है ! जिनके कारण भारत में मृत्यु दर में काफी कमी आया है ! उसके साथ लोगों की आय भी बढ़ा है ! जिससे उनका रहन-सहन और खान-पान पहले से काफी बेहतर हुआ है !

जन्म दर में तेजी

भारत के पिछले कई दशकों जनसंख्या विस्फोट के नाम से जाना गया ! लेकिन उसका रफ्तार आज भी कम नहीं हुआ है ! आज भी जन्म दर अन्य देश के मुकाबले भारत में ज्यादा है !

जल्द विवाह

भारत में विवाह के लिए कानून लड़कों के लिए 21 वर्ष है ! जबकि लड़कियों के लिए 18 वर्ष की आयु तय की गई है! नॉर्थ ईस्ट के कुछ स्टेट में यह आयु सीमा इस से भी कम है ! दहेज व धार्मिक कारणों के कारण लोग जल्दी विवाह कर लेते हैं ! पहले के दशकों में देखा गया था कि बाल विवाह ज्यादा होता था !

गरीबी और निरक्षरता

गरीबी भी बहुत बड़ा कारण है ! बेटी के पिता अपने बेटी की शादी जल्द से जल्द करवाने की सोचते हैं ! लड़कियों के शिक्षा पूरा होने से पहले ही उसकी शादी कर दी जाती है !

अपने देश में शिक्षा की कमी किसी से छुपा नहीं है ! अशिक्षित लोग गर्भनिरोधक का प्रयोग करने में सार्थक नहीं होते हैं ! ना ही वह मानसिक रूप से तैयार होते हैं कि हमें बच्चे कम हो !

ज्यादा बच्चों की प्रवृत्ति भी देखी जाती है ! उसे लगता है कि अगर हमारे बच्चे ज्यादा होंगे तो हमारे कमाने वालों का स्रोत भी बढ़ेगा ! उसके साथ हमें सरकारी योजनाओं का भी लाभ ज्यादा मिलेगा !

क्योंकि भारत में परिवार की संख्या के हिसाब से कुछ सरकारी योजनाओं का लाभ दिया जाता है ! बिहार, भारत का सबसे कम साक्षरता वाला राज्य है ! उसी कारण वहां का जनसंख्या वृद्धि दर 25.1 प्रतिशत है !

कमजोर मानसिकता

जनसंख्या वृद्धि में सांस्कृतिक आदर्शों का भी काफी महत्व रहा है! क्योंकि भारत में यह माना जाता है कि पुत्र कमाई का स्रोत होता है !

उसके लिए वह कई प्रयास करते हैं ! कई धर्म ऐसे भी हैं जहां पर लोग जनसंख्या नियंत्रण के सभी तरीकों को अपनाने से एतराज़ करते हैं !

अवैध प्रवास

भारतीय सीमाओं के आसपास ज्यादातर गरीब देश हैं ! वहां के लोग अवैध रूप से भारत में प्रवास करते हैं ! उनकी जनसंख्या तेजी से बढ़ रहा है जो एक चिंता का विषय हो सकता है !

जनसंख्या नियंत्रण के उपाय की कमी

जनसंख्या नियंत्रण के सभी उपायों की जानकारी अभी भी गांव के लोगों में नहीं है ! जिस कारण जनसंख्या का नियंत्रण होना मुश्किल हो रहा है !

भारत की सांस्कृतिक विरासत एेसा है जहाँ पर लोग जनसंख्या नियंत्रण की बात खुलकर नहीं कर सकते हैं ! वैसे मैं सरकार का तारीफ करना होगा कि उन्होंने जनसंख्या नियंत्रण पर अंकुश लगाया है !