हज - 2019 A toZ इंफॉर्मेशन

About Author: Arshad Anwar Alif

Last Edited: 13 Jan 2019 08:46 PM

हज का खर्च 2019, यात्रा की तारीख, hajj kitne din ka hota hai, हज यात्रा 2019, हज की ताजा खबर 2019, हज यात्रा 2019, हज फॉर्म, हज का इतिहास, हज कमेटी ऑफ इंडिया, हज, हज यात्रा की शुरुआत, हज यात्रा की पहल

हज यात्रा 2019 से संबंधित समाचार

हज यात्रा से संबंधित सभी समाचार और नियमों का अपडेट आपको इस पेज पर मिलेगा, Hajj का ताज़ा अपडेट पाने के इस पेज को चेक करते रहें !

Hajj Kitne Din Ka Hota Hai

हज यात्रा कितने दिनों का होता है ? अमूमन हज यात्रा 45 दिनों का होता है, जिस में आजमीन सफर भी शामिल है ! आजमीन को अपने हज से संबंधित सभी अड़कान पूरे करने के लिए 40 दिनों तक सऊदी अरब में रहना होता है !

हज यात्रा कब से शुरू

भारत के ज्यादातर राज्यों में हज यात्रा 04 जुलाई 2019 शुरू हो रहा है जो सिलसिला 18 जुलाई तक चलेगा। कुछ राज्यों में यह तारीख अलग हो सकता है ! हज यात्री अपने राज्य के हज भवन या हज कमेटी के ऑफ़िस से पता लगा सकते हैं कि उनका कौन सी तारीख को जाना तय  हुआ है !

हज यात्रियों की वापसी

भारत के ज्यादातर राज्यों के, हाजियों की वापसी 18 अगस्त 2019 को शुरू होगा जो सिलसिला 01 सितंबर चलेगा ! जो 04 जुलाई को जाएंगे उनकी वापसी 18 अगस्त को होगा, इस तरह से उनका सफर 45 दिनों का होगा !

हज फॉर्म 2019

हज का फॉर्म ऑनलाइन भरने की सुविधा उपलब्ध है इसके अलावा ऑफलाइन भी भरा जा सकता है ! फॉर्म भरने की अंतिम तिथि एक बार फिर से बनाया गया है ! उत्तर प्रदेश हज समिति के अनुसार फॉर्म भरने की अंतिम तिथि 19 दिसंबर है !

तीन इंस्टॉलमेंट में जमा होगी हज फ़ीस

2019 के लिए हज यात्रियों को तीन इंस्टॉलमेंट में फ़ीस जमा करनी होगी ! पहला इंस्टॉलमेंट में ₹81000 जमा करने होंगे जबकि दूसरे क़िस्त समय ₹120000 जमा करना होगा ! तीसरी यानी आखिरी क़िस्त की रकम के बारे में बाद में बताया जाएगा !

तीसरी क़िस्त रुपया और रियाल के कन्वेंशन रेट के अनुसार बताया जाएगा ! इंस्टॉलमेंट की तिथियों के बारे में स्थानीय हज कमेटी आजमीन को समय-समय पर सूचित करते रहेंगे !

हज का खर्च 2019 और जीएसटी

2018 से हज सब्सिडी पूरी तरह खत्म होने से हज यात्रियों को हज यात्रा पर जाने के लिए 2017 के अपेक्षा करीब 30 - 50 हजार रुपये अधिक देना पड़ा था ! 2019 हज यात्रा करने वाले आजमीनों जीएसटी का 18 परसेंट टैक्स भी चुकाना पड़ेगा !  

अगर कोई हज यात्री गया, बिहार के जगह कोलकाता से हवाई सफर करता है तो उसे लगभग 30 हजार का फायदा हो सकता है ! इस तरह की सुविधा अन्य राज्यों में भीी उपलब्ध हो सकता है ! 

उसके अलावा मक्का मदीना में भी ठहरने का खर्च इस बार ज्यादा आएगा पिछले साल के मुकाबले क्योंकि इस साल रूपया में रियाल के अपेक्षा काफी गिरावट देखा गया है ! 

हवाई रास्ते हज का खर्च  

हज यात्रियों के लिए दो कैटेगिरी बनाया गया है -

ग्रीन कैटेगरी -

  • फॉर्म भरने की फीस - 300 रुपये
  • मक्का में रुकने का खर्च - 81,000 रुपये
  • मदीना में रुकने का खर्च - 9,000 रुपये
  • एयरलाइन्स का टिकट 70,340 रुपये
  • अन्य खर्च (हाजियों का खर्च) - 76,320 रुपये

    कुल खर्च - 2,36960 रुपये

अजीजिया कैटेगरी

  • फॉर्म भरने की फीस - 300 रुपये
  • मक्का में रुकने का खर्च - 47,340 रुपये
  • मदीना में रुकने का खर्च - 9,000 रुपये
  • एयरलाइन्स का टिकट 70,340 रुपये
  • अन्य खर्च (हाजियों का खर्च) - 76,320 रुपये

    कुल खर्च - 2,03300 रुपये

भारत के विभिन्न राज्यों से हज यात्रा शुरू करने पर हज यात्रा के कुल खर्चे में अंतर आ सकता है जो 5 हजार से 15 हजार रुपये तक का हो सकता है ! उदाहरण के तौर पर वर्ष 2018 में ग्रीन कैटेगरी के लिए 2,41,000 रुपये जबकि अजीजिया कैटेगरी के लिए 2,11,000 रुपये लिया गया था ! हज यात्रा के लिए 7 से 8 महीने पहले, यह राशि जमा करना होता है !

हज यात्रियों से एयर इंडिया को फ़ायदा

भारतीय हज यात्री सिर्फ सरकारी एयरलाइन के विमान से हज यात्रा करते हैं, यह कानून है या परंपरा इसका पता लोगों को नहीं है ! एयर इंडिया 1 लाख 75 हजार हज यात्रियों को सऊदी अरब लेकर जाएगा और उसे वापस भी लाएगा !

वर्ष 2018 से एयर इंडिया आने-जाने के किराया के तौर पर प्रत्येक हज यात्रियों से 70,340 रुपये वसूल करेगा, जिससे सरकारी एयरलाइंस कंपनी एयर इंडिया को बहुत फायदा होने का उम्मीद है ! अगर गैर सरकारी यानी प्राइवेट एयरलाइंस को भी मौका मिले तो इससे और सस्ता हज यात्रा हो सकता है !

हज यात्रियों को प्रशिक्षण

हज यात्रियों के लिए प्रशिक्षण प्रोग्राम 15 जून से 01 जुलाई 2019 के बीच आयोजन होगा, राज्यों के हज कमेटी अपनी सुविधा अनुसार तिथि की घोषणा कर के हज यात्रियों को सूचित करेंगे !

हज यात्रियों वैक्सीन व टीका-करण अनिवार्य

वर्ष 2019 में जो लोग हज यात्रा में जा रहे हैं उनके लिए वैक्सीन व टीका-करण अनिवार्य कर दिया गया है ! हज यात्रियों से अनुरोध किया गया है कि वह अपने राज्यों के हज कमेटी से संपर्क स्थापित करें ! टीका लगवाने के बाद जो सर्टिफ़िकेट मिलेगा उसे हज यात्रा में ले जाना अनिवार्य कर दिया गया है !

हज यात्रियों के लिए प्रतिबंधित सामान

  • इजरायल के तारा निशान बैग, आदि
  • नंगी तस्वीर, बड़े साइज की तस्वीर
  • वीडियो कैसेट, क्रॉस, सिगरेट
  • काले रंग की तस्बीह
  • वीडियो कैसेट, क्रॉस, सिगरेट
  • नशीली दवाएं, अफीम, खशखश, चरस, कोकीन, आदि
  • गैर इस्लामी किताबें.

कई कठोर नये नियम

फॉर्म में गलत जानकारी देने पर आजमीन के फॉर्म को हज कमेटी रद कर सकता है ! गलत सूचना देने वाले हज यात्री अगर जहाज़ में भी बैठ गया हों तो उसे उतार लिया जाएगा और उसके खिलाफ प्राथमिकी भी दर्ज कराई जाएगी !

बच्चों का भी पूरा किराया

जो अभिभावक अपने बच्चों के साथ हज यात्रा करना चाह रहे हैं उसे इस बात पर ध्यान देना होगा कि अब नियम बदल चुके हैं! 2 साल से कम उम्र के बच्चे को 10 फ़ीसदी किराया देना होगा जबकि 2 या उससे अधिक उम्र के बच्चों को पूरा किराया देना होगा !

दोबारा हज करने के लिए देने होंगे 38 हजार

हाजियों को दोबारा हज करने के लिए पूर्ण किराया के अलावा ₹38000 अधिक चुकाने होंगे तभी वह दोबारा हज यात्रा कर पाएंगे !

Hajj Kab Hai - 2019

हज कब है, अक्सर लोगों का यह प्रश्न है ! दोस्तों, आपको बता दूं की हम मुसलमानों का त्योहार चाँद के परिक्रमा पर निर्भर करता है ! चाँद देखे जाने के बाद ही सही तिथि पता चलेगा कि हज कब है ! एक अंदाजा के मुताबिक हज की तिथि 9 अगस्त से 14 अगस्त 2019 के बीच हो सकता है !