शबे बारात कब है 2019

By: Arshad Anwar Alif Last Edited: 19 Apr 2019 06:10 PM

शबे बारात कब है

शब ए बारात कब है ? 2019 में यह त्यौहार कब मनाया जाएगा! शबे बारात का महत्व क्या है? इस त्यौहार में कौन सी इबादत की जाती है!

2016 से 2020 के बीच होने वाले यह त्यौहार का लिस्ट नीचे दिया गया है! लिस्ट को देखने से साफ पता चलता है कि, प्रत्येक वर्ष 11 से 12 दिन पहले यह त्यौहार मनाया जाता है!

  • 2016 - 21 मई
  • 2017 - 12 मई
  • 2018 - 1 मई
  • 2019 - 20 अप्रैल 
  • 2020 - 8 अप्रैल (उम्मीद)

Shab e Barat in Hindi Aur kab hai

Shab e Barat kab hai? सभी धर्म मानने वाले इस प्रश्न का उत्तर को गूगल पर सर्च करते हैं! ऊपर दिए गए लिस्ट से अंदाजा लगा सकते हैं! 

Shab e barat ka chand 2019 - इमारत शरिया पटना के मुताबिक, शआबान महीने की पहली तारीख 7 अप्रैल को है! 

Shab e Barat in Hindi जैसे शब्द को भी आप गूगल पर सर्च करते हैं! आपको इस त्यौहार से संबंधित ए टू जेड इनफॉरमेशन इस लेख में मिलने वाला है !

कब मनाया जाता है शबे बारात

इस्लामिक कैलेंडर या हिजरी कैलेंडर के अनुसार शाबान (आठवां महीना) महीने के 14 तारीख को सूर्यास्त के बाद, यह त्यौहार शुरू हो जाती है जो पूरे रात से सुबह के फजर तक होता है !

शबे बारात कब है

शब ए बारात 2019 जैसे शब्द से आप सर्च करते हैं! आप यह जाना चाह रहे हैं कि शबे बारात कब है ?

भारत और उनके आसपास के देशों में 1 मई को 2018 में शबे बारात मनाया गया था! शाबान महीने का 14 तारीख को यह त्यौहार मनाया जाता है !

शबे बरात कितने तारीख को है

2019 में शबे बरात 20 अप्रैल को है ! शाबान महीने के चाँद देखें जाने के अनुसार की शबे बरात की तारीख तय होती है ! शआबान महीनेे का चाँद 6 अप्रैल को देखे जाने का समाचार मिला है! 

7 अप्रैल को शआबान महीने की पहली तारीख हैै ! 20 अप्रैल को शआबान महीने का 14 तारीख होगा ! इस्लामिक कैलेंडर चेक करें !

शब-ए-बारात के विभिन्न नाम

शब ए बारात और शबे बरात, के नाम से इंटरनेट पर खोजा जाता है ! लेकिन सही नाम क्या है यह आप जान लें ! भारतीय उपमहाद्वीप में यह त्यौहार शब-ए-बारात के नाम से जाना जाता है! इस त्यौहार का अरबी नाम लैलतुन निसफे मीन शाबान या लैलतुल बराह कहते हैं !

अक्सर लोग यह जानना चाहते हैं कि मुसलमान शब ए बारात क्यों मनाते हैं ? शब-ए-बारात दो शब्दों के मेल (शब + बारात) से बना है !

शब मतलब रात होता है ! जबकि बारात का अर्थ बरी होना होता है! यह एक इबादत की रात है जिसमें मुसलमान अपने अल्लाह से गुनाहों की माफी मांगते हैं! गुनाहों की तौबा करते हैं। इस रात को अल्लाह पाक तौबा ज्यादा कबूल करते हैं !

अल्लाह पाक रहमतों व नेकियों के दरवाजे खोल देते हैं! दुनिया में रहमत के फरिश्तों को भेजते हैं ! शबे बरात की रात अल्लाह पाक अपने बंदो के लिए रोजी रोटी व मौत हयात आदि का फेहरिस्त तैयार करते हैं !

इस्लाम में चार बड़ी रातें - शबे कद्र की रात कब है 2019

इस्लाम में इबादत करने के अनुसार पहले नंबर पर आशूरा की रात है, दूसरी शब-ए-मेराज, तीसरी शब-ए-बारात व चौथी शब-ए-कद्र होती है ! इन रातों की इबादत काफी बेहतर माना जाता है ! शबे कद्र की रात कब है 2019, आइए जानते हैं ! 

शब ए बारात की इबादत

शब ए बारात की नमाज़ में मुख्यतः नफल व तहजूद है ! शबे बारात की दुआ में अपने और परिवार के लोगों लिए माफी जरूर मांगना चाहिए!

शब ए बारात की रात इबादत की रात है पूरी रात इबादत में ही गुजारना चाहिए ! रात के पहले हिस्से में कब्रिस्तान जरूर जाना चाहिए ! नफल व तहजूद के नमाज़ के इलावा जो अभी समय बचे उसे तिलावते कुरआन को देना चाहिए !

शब ए बारात कब है यानि शबे बरात कितने तारीख को है ? सुबरात कब है 2019 ? कब आपको पता चल चुका होगा ! अन्य मुस्लिम के बाहर सेेेे संबंधित जानकारी नीचे दिया गया है!