Sunday in Hindi

Sunday in Hindi

भारत में रविवार की छुट्टी क्यों होती है, इसके पीछे का इतिहास क्या है ! मुगल, ब्रिटिश काल एवं आजाद भारत में क्या सन्डे को ही छुट्टी होती थी! रविवार का इतिहास बहुत दिलचस्प है, कृपया इस लेख को अंत तक जरूर पढ़िए!

रविवार क्या है

Sunday को हिन्दी में रविवार एवं उर्दू में इतवार कहते हैं जो शनिवार के बाद और सोमवार से पहले आता है! भारत के साथ दुनिया के ज्यादातर देशों में यह दिन छुट्टी का होता है लेकिन मुस्लिम देशों और इज़राइल (शुक्रवार) में यह छुट्टी का दिन नहीं होता है !

 

रविवार का क्या महत्व है

 

रविवार

रविवार के दिन का मतलब हमें अब तक यह समझ में आता है कि यह मेरा आराम करने का दिन है! सही बात है कि हम पूरे हफ्ते का थकान को कम करने की कोशिश करते हैं ! लेकिन इसका धार्मिक महत्व भी है!

रविवार के दिन अपनों से मिलने के साथ-साथ आने वाले दिनों की तैयारी को ज़रूर देना चाहिए ! सोने और ज्यादा  मनोरंजन में हमें अपने रविवार को बेकार नहीं करना चाहिए !

सप्ताह का पहला दिन

हिब्रू कैलेंडर, पारंपरिक ईसाई कैलेंडर, हिंदू कैलेंडर, और इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार सप्ताह का पहला दिन रविवार है !

हालांकि, अंतर्राष्ट्रीय संगठन आईएसओ 8601 के अनुसार, रविवार सप्ताह के सातवाँ और अंतिम दिन है जबकि सोमवार सप्ताह का पहला दिन है !

वीकेंड क्या होता है

Weekend को हिन्दी में सप्ताहांत कहते हैं ! भारत के साथ दुनिया के ज्यादातर देशों में शनिवार एवं रविवार को वीकेंड कहा जाता है !

बड़े कॉर्पोरेट जगत में सप्ताह में सिर्फ 5 दिन काम काज होता है जबकि सप्ताह के 2 दिन शनिवार और रविवार को छुट्टी रहता है, नौकरी करने वाले लोग इसे कहते हैं कि वीकेंड की छुट्टी भी कहते हैं !

लेकिन कुछ देशों में वीकेंड का दिन अलग होता है जैसे मिस्र और सऊदी अरब में शुक्रवार और शनिवार के दिनों में वीकेंड रहता है !

रविवार का धार्मिक महत्व

रविवार का दिन हिन्दू देवता खंडोवा जी और सूर्य देवता का दिन है ! हिंदू कैलेंडर के अनुसार रविवार सप्ताह का पहला दिन होता है ! रविवार सप्ताह का शुभ दिन माना जाता है !

ईसाई धर्म के अनुसार, ईश्वर ने दुनिया को 6 दिनों में बनाया था,  6 दिनों के बाद सातवें दिन ईश्वर ने विश्राम किया था ! वह सातवाँ दिन रविवार का दिन था ! इसी लिए ईसाइयों के गिरिजाघरों में प्रार्थना दिन रविवार होता है ! 

 

रविवार की छुट्टी का इतिहास

 

रविवार की छुट्टी का इतिहास

रविवार की छुट्टी का इतिहास काफी पुराना है, पोप ग्रेगरी तेरहवें ने 1582 में ग्रेगोरियन कैलेंडर दिया था ! इस कैलेंडर में रविवार के दिन को गिरजाघरों में प्रार्थना का दिन माना गया था ! दुनिया में पहली बार रविवार की छुट्टी का दिन का घोषणा किसने किया था ? उसके उत्तर के तौर पर पोप ग्रेगरी का नाम बताया जा सकता है !

रविवार की छुट्टी कब से शुरू हुई थी ? दुनिया में आधिकारिक तौर पर 1843 ई में ब्रिटिश सरकार ने पहली बार रविवार को अवकाश का दिन घोषित किया था ! तभी से दुनिया के ज्यादातर देशों में रविवार की छुट्टी के दिन का चलन शुरु हो गया था !

 

भारत में रविवार की छुट्टी का इतिहास

 

भारत में रविवार की छुट्टी का इतिहास

 

10 जून 1890 में ब्रिटिश हुकूमत द्वारा भारत में रविवार की छुट्टी घोषित हुआ था ! मुगल काल में शुक्रवार को अवकाश का दिन रहता था ! भारत में जब ब्रिटिश सरकार स्थापित होने के बाद, उस ने शुक्रवार की छुट्टी भारतीयों के लिए खत्म कर दिया था!

भारतीय वर्करों को सप्ताह के सातों दिन काम करना पड़ता था ! छुट्टी लेने पर उसके मंथली सैलरी से तनख्वाह काट लिए जाते थे और भारतीयों को महीने में एक या दो छुट्टियों का ही लाभ मिलता था !

श्री मेघाजी लोखंडे का फोटो आपने भारतीय डाक टिकट पर देखा होगा ! श्री मेघाजी लोखंड ने 26 सालों तक सप्ताहिक एक दिन आकाश के लिए ब्रिटिश गवर्नमेंट के साथ संघर्ष किया था !

Sunday in Hindi - सारांश में, दोस्तों आज़ादी की लड़ाई की तरह तरह की हमें सन्डे की छुट्टी की लड़ाई लड़ना पड़ा था ! उसके साथ-साथ उसके अनेक धार्मिक मान्यताएं भी हैं ! अपने संडे को व्यर्थ ना करें और अपने आप को ज्यादा बेहतर बनाने के लिए रविवार के दिन का उपयोग करें !

 

India Related searches