Dr. Mumtaz Naiyer Scientist ने हेपेटाइटिस, डेंगू व ज़िका विषाणु के खिलाफ वैक्सीन विकसित करने के प्रयासों में एक महत्वपूर्ण खोज की है

By: Sunil Kumar Last Edited: 17 Apr 2019 03:01 PM

Dr. Mumtaz Naiyer Scientist

इंग्लैंड के प्रसिद्ध साउथेम्प्टन विश्वविद्यालय में रिसर्च कर रहे डॉ मुमताज नैयर को एक बड़ी कामयाबी मिली है ! दुनिया के सबसे घातक माने जाने वाले बीमारियों में हेपेटाइटिस, डेंगू पीला बुखार, जापानी एन्सेफलाइटिस व ज़िका को शुमार किया जाता है,  लेकिन अभी तक इस के वैक्सीन खोज नहीं हो पाया है !

लंदन में काम कर रहे भारतीय सॉफ्टवेयर इंजीनियर श्री असद इमाम ने बताया कि डॉ नैयर पिछले पांच सालों से इन बीमारियों के वैक्सीन पर इंग्लैंड में रिसर्च कर रहे हैंं ! जिनमें उसे एक बड़ा कामयाबी मिला है !

वेलकम ट्रस्ट और मेडिकल रिसर्च काउंसिल द्वारा वित्त पोषित किया गया अध्ययन, हेपेटाइटिस सी वायरस के संपर्क में 300 से अधिक मरीजों से डीएनए का विश्लेषण किया गया, जिसमें पता चला कि किआईआर 2 डी 2 रिसेप्टर वायरस को सफलतापूर्वक साफ़ करने के साथ जुड़ा था।

टीम ने तब पहचान की कि प्रतिरक्षा प्रणाली ने रिसेप्टर का उपयोग करते हुए NS3 helicase प्रोटीन को लक्षित किया और पाया कि यह वायरस गुणा को रोका गया।

उन्होंने यह दिखाया कि यह एक ही तंत्र कई अलग-अलग वायरसों के लिए महत्वपूर्ण हो सकता है, उदाहरण के लिए, ज़िका और डेंगू वायरस, जो कि एनएस 3 हेलिसीज़ प्रोटीन के भीतर एक क्षेत्र भी है जो कि किआर 2 डी 2 रिसेप्टर द्वारा मान्यता प्राप्त है।

मेडिकल साइंस के क्षेत्र में इसे एक बड़ा सफलता माना जा रहा है और उम्मीद कर सकते हैं कि भविष्य में इन बीमारियों का व्यक्ति ने आम लोगों के लिए उपलब्ध हो !

About Dr. Mumtaz Naiyer, Scientist

डॉ मुमताज नैयर कौन हैं? Dr. Mumtaz Naiyer इंग्लैंड के प्रसिद्ध साउथेम्प्टन विश्वविद्यालय में पोस्ट डॉक्टरल रिसर्च एसोसिएट हैं ! नेशनल सेंटर फॉर सेल साइंस, पुणे, भारत से उन्होंने इम्यूनोलॉजी में पीएचडी की डिग्री हासिल किया है, मास्टर ऑफ साइंस जामिया हमदर्द से किया है!

जबकि बीएससी बायोटेक्नोलॉजी जामिया मिलिया इस्लामिया किया था ! बिहार के किशनगंज जिले से हैं, जबकि यह जिला बिहार में शिक्षा के क्षेत्र में सबसे पीछे माना जाता है !