लड़कियों के जन्म पर खुशी मनाने वालों की आज भी कमी नहीं है! आज भी ऐसा होता है कुल्हैया मुस्लिम समुदाय में जो पूर्णिया, अररिया जिला, बिहार और मोरंग नेपाल तक फैला हुआ है ! कुल्हैया मुस्लिम समुदाय आज भी इस्लाम से उतना ही जुड़ा हुआ है जैसा की आपने इतिहास में पढ़ा होगा! इस बिरादरी में इस्लाम मानने वालों की आज भी कमी नहीं है इसलिए बेटियों के जन्म पर खुशी मनाई जाती है और यह माना जाता है कि, बेटियां घर की जीनत होती है!

कुल्हैया बिरादरी में, आज के समय में भी दहेज मांगना एक बुरी बात मानी जाती है !

आज के समय में लाखों महिलाओं को देहज के चक्कर में आग के हवाले कर दी जाती है लेकिन आज भी कुल्हैया मुस्लिम समाज में दहेज वर्जित है ! दहेज न लेने ना देने की परंपरा इस बिरादरी में सदियों पुरानी है इसीलिए बेटी की शादी कराना बोझ नहीं समझा जाता है! लड़की वाले अपनी मर्जी से जो देना चाहते हैं  वही  गिफ्ट लड़के वाले को मिलता है ! अगर कोई लड़के वाला दहेज का डिमांड करते हैं तो  समाज के बाकी लोग उसका बहिष्कार करते हैं ! ऐसे में उसे अपने बेटे की शादी कराना अपनी बिरादरी में मुश्किल हो जाता है! रिश्ते की पहल लड़के वाले को करना होता है! जबकि दूसरे समाज में लड़की वाले ही लड़के वाले के यहां रिश्ता देते हैं ! 

पूरे भारतवर्ष में दहेज का चलन है ! लड़कियों के माता-पिता को पूरी जिंदगी अपनी बेटीयों की शादी के लिए दहेज इकट्ठा करने में लग जाते है! ऐसे में उसे अपना प्रॉपर्टी आदि बेचना पड़ता है या उसे कर्ज लेना पड़ता है ! इसी वजह से लड़कियों को बोझ माना जाता है!

कुल्हैया समुदायों में भी अब धीरे- धीरे दहेज का चलन शुरू हो रहा है, बदलते दौर में लड़के मोटरसाइकिल या कार की ख्वाहिश रखने लगे हैं! लड़के या उनके माता-पिता दूसरी समाज को देखकर वह भी दहेज की ख्वाहिश दबे मन से रखने लगे हैं!

क्या हमें इस्लाम दहेज लेने की इजाजत देता है? हमें एक बार जरूर सोचना चाहिए और अपनी सदियों पुरानी परंपराओं को आगे बढ़ाना चाहिए!

एक कड़वा सच

माता पिता अपनी प्रॉपर्टी सिर्फ बेटों को देना पसंद करते हैं जबकि इस्लाम के हिसाब से दोनों को देना चाहिए बेटियों को बेटे का एक तिहाई हिस्सा देना चाहिए ! जो माता पिता अपने बेटियों का हक मारते हैं उसे बहुत बड़ा आजाब होता है और यह गुनाह कबीरा है!

बड़े पदों पर पहुंचने वाले कुल्हैया लड़के अपनी बिरादरी से बाहर शादी क्यों करते हैं ?

बड़े पदों पर पहुंचने वाले कुल्हैया लड़के का दलील होता है कि अपनी बिरादरी में मेरे हिसाब की पढ़ी-लिखी लड़कियां नहीं है ! इस वजह से हम अपनी बिरादरी से बाहर की लड़कियों से शादी करते हैं और हमें इस्लाम इस का इजाजत भी देता है!

समाज के लोग उस पर आरोप लगाते हैं कि उसे दहेज चाहिए था इसीलिए उसने अपनी बिरादरी से बाहर की लड़की से शादी कर लिया और दहेज के नाम पर एक मोटी रकम हासिल किया!

कुल्हैया लड़कियों में शिक्षा की कमी

हां यह बात बिल्कुल सही है कि हमारे समाज में लड़कियों का शिक्षा का स्तर ठीक नहीं है, हमें अपने लड़कियों की शिक्षा पर जोर देना चाहिए!

मां बाप अपनी बेटियों को पढ़ाने से क्यों कतराते हैं ?

हर मां बाप का एक रोना होता है कि अगर मेरी बेटी बाहर पढ़ने जाएगी तो, अगर कोई ऊंच-नीच हो गई तो अपनी समाज में हम क्या मुंह दिखाएंगे! कुछ लोग यह सोचते हैं कि बेटी को पढ़ाने से हमें क्या फायदा, बेटी की शादी होने के बाद वह अपने शोहर के घर चले जाएगी और हमें उस से कोई फायदा नहीं होगा! कुछ इलाके में स्कूल और कॉलेज की भारी कमी होती है और बाहर भेजने लायक उसके पास इतना धन नहीं होता कि अपनी बेटियों को पढ़ा सकें !

चाहे वजह जो भी हो हमें अपनी सदियो पुरानी परंपरा को आगे बढ़ाना पड़ेगा तभी हमारा समाज स्वस्थ रहेगा और लड़कियों की  जन्म पर हम तभी खुशी मना पाएंगे !

 

कुल्हैया डायरेक्टरी, अपना प्रोफाइल बनाएं

 

कुल्हैया मेटरीमोनियल के बारे में कुछ अहम बातें 

 

सवाल :- कुल्हैया मेटरीमोनियल बनाने का मकसद किया है ?


जवाब :- आज के समय में लोग बहुत व्यस्त हैं अपने काम में, दूसरों के शादियों के लिए समय नहीं निकाल पाते हैं खास कर अगवा बनने के लिए ! आज के समय में दुल्हा और दुल्हन का सही मैचिंग होना बहुत जरूरी है ताकि उसका शादी कामयाब रहे ताउम्र ! इस लिए आप अपना अगवा कुल्हैया.कॉम को बनाए !


सवाल :- किया आनलाइन प्रोफाइल मेटरीमोनियल बनाने से, लोग यह सोचेंगे कि उस का शादी नही हो पा रहा है इस लिए प्रोफाइल बनाया है ?


उत्तर :- आप तो जानते हैं कि जमाना बदल रहा है तो सोच भी बदलना जरूरी है वरना आप बहुत पीछे रह जाएंगे ! बड़े शहरों और बड़े लोगों में यह चलन बहुत पहले से ही कामयाब है तो हम एेसा क्यों न करें ! आप जैसा कि जानते हैं के कुल्हैया बिरादरी का आबादी नेपाल, अररिया, पूर्णिया और कई अन्य शहरों में है ! आप अपने आस-पास के जगहों में शादी-ब्याह करते हैं लेकिन जरुरी नहीं है कि आप को मनपसंद लड़का और लड़की मिल जाए !


सवाल :- किया कुल्हैया मेटरीमोनियल, कुल्हैया बिरादरी के हिसाब का है ?


उत्तर :- हाँ, यह मेटरीमोनियल वेबसाइट खास कुल्हैया बिरादरी को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है ! यह वेबसाइट आप को एक आइडिया देता है कि कहाँ-कहाँ पर लड़के और लड़कियां शादी के लिए हैं जैसे गांव का नाम, अभी कहाँ रहता है, दादा और नाना का नाम, एजुकेशन का स्तर, और बहुत कुछ लेकिन लड़की की नाखून का साइज किया है वगैरह इस तरह की जानकारी कुल्हैया मेटरीमोनियल नही देता है जैसा कि बाकि मेटरीमोनियल वेबसाइट करता है ! 100% कुल्हैया बिरादरी के हिसाब का वेबसाइट है जैसा आप सोचते हैं वैसा ही जानकारी मिलेगा ! यह वेबसाइट हजारों लोगों से सलाह मशवरा कर के बनाया गया है खास कर के कुल्हैया बिरादरी के लिए ! यहाँ पर घर के बड़ों को यह मौका दिया गया है वह अपने बच्चों के लिए मेटरीमोनियल प्रोफाइल बना सकता है ! यह वेबसाइट 100% सेफ है आप के इस्तेमाल के लिए और प्रिवेसी का खास ख्याल रखा गया है ! अपने रिश्तेदारों और दोस्तों को कुल्हैया.कॉम के बारे में जरूर बताएं !