सीमांचल को मदद की उम्मीद , मुख्यमंत्री का सीमांचल दौरा

सीमांचल में बाढ़ स से भीषण तबाही हुई है!  यहां के लोगों का जिंदगी अस्त व्यस्त हो गया है! 25 लाख से ज्यादा लोग बेघर हुए हैं!  फसलों को काफी नुकसान हुआ है!  सड़के व पुल टूट गई हैं ! अभी भी लोग राहत शिविरों में जा रहे हैं! मवेशियों भूख से मर रही है जिस से महामारी फैलने का खतरा बढ़ गया है! 

श्री तस्लीमुद्दीन और मौलाना असरारुल हक ने मांग की है सीमांचल को तुरंत पैकेज दिया ! स्वास्थ संबंधी समस्या समस्या बहुत ज्यादा हो रही हैं इसके लिए तुरंत मेडिकल टीम भेजने की मांग हो रही है!  लोगों के पास खाने के लिए सामान की भारी कमी हो रही है क्योंकि सड़क के टूट जाने से सप्लाई पर बहुत ज्यादा फर्क पड़ा है! 

स्थानीय नेता और एनजीओ बिरादरी के लोग सैलाब पीड़ित को काफी सहायता कर रहे हैं अब उम्मीद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से है!