Education in Purnea : Educational System of Purnea

पूर्णिया से

छात्रों का क्यों हो रहा है पलायन ?  पलायन के कारण 

आपने अक्सर सुना होगा छात्र पढ़ने के लिए दिल्ली पटना हैदराबाद आदि शहर को जा रहे हैं ! कभी आपने यह नहीं सोचा कि यह छात्र-छात्राएं यही पर रह कर अपनी शिक्षा पूरी क्यों नहीं कर सकता और अपने माता-पिता के साथ क्यों नहीं रह सकता ? ऐसे प्रश्न सदियों से लोगों के मन में आ कर रहे हैं!  आपने ज्यादा यह सुना होगा उच्च शिक्षा के लिए बच्चे पढ़ने के लिए बाहर जाते हैं लेकिन अब स्कूली शिक्षा के लिए भी बच्चे बाहर जा रहे हैं जिससे शिक्षा महंगा होते जा रहा है! पहले बात की स्कूली शिक्षा पर

मैं यह नहीं कहता यहां के सारे स्कूल खराब हैं यह अच्छा शिक्षा नहीं देता हां यह कह रहा हूं कि उस स्कूल अच्छे हैं जो अच्छे शिक्षा दे रहे हैं ! लेकिन जो नेशनल लेवल का गुणवत्ता होना चाहिए वह नहीं हो पाता जिसकी वजह से इंजीनियरिंग मेडिकल के इंट्रेंस के लिए छात्र तैयार नहीं हो पा रहे हैं!  यह जो हो पाते हैं उसको कोचिंग क्लासेस चाहिए होता है तो क्यों ना स्कूल को इतना बेहतर हो जिससे बच्चे इंजीनियरिंग एवं मेडिकल की प्रवेश परीक्षा आसानी से निकाल ले !

पूर्णिया में बेहतर स्कूली शिक्षा पाने के उपाय

अपने बच्चे के लिए सही स्कूल का चुनाव करें ! 

उसके रिजल्ट की व्याख्या करें! 

जैसे नेशनल लेवल के एग्जाम के लिए उसका फॉर्म भरें जिससे आपको उसका मेरिट पता चलेगा जैसे नेशनल ओलंपियाड की टेस्ट होते हैं! 

 NCERT Book  के अलावा अच्छे से  रिफरेंस बुक  का चुनाव करें! 

बेसिक नॉलेज पर खास ध्यान दें क्योंकि अगर बेस अच्छा होता है तो आगे भी अच्छा रिजल्ट हो सकता है! 

 यह जरुरी नहीं है कि यह हर महंगाई स्कूल अच्छा ही होता है उस पर भी ध्यान रखें ! 

आपको पता होना चाहिए मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम के लिए है अब NEET एग्जाम लेगा, NEET का सिलेबस जरुर चेक करें! 

इंजीनियरिंग और मेडिकल  का प्रवेश परीक्षा केंद्रीय एजेंसी के थ्रू होगा और वह cbse सिलेबस को मानता है इसलिए आप शुरू से ही NCERT  की बुक पढें ! 

जनसंख्या तेजी से बढ़ रहा है छात्रों की भी संख्या बढ़ रही है और साथ-साथ पूर्णिया जिले के आसपास स्कूलों की संख्या बढ़ रही है! लेकिन गुणवत्तापूर्ण स्कूलों की काफी कमी देखी जा रही है पहले तो सरकारी स्कूल में भी अच्छी पढ़ाई होती थी लेकिन आप वहां पर भी गुणवत्ता वाली टीचरों की भारी कमी हो रही है जिससे छात्रों का सही रिजल्ट नहीं हो पाता तो ऐसे में अभिवावक अपने बच्चे को पूर्णिया से बाहर पढ़ने के लिए भेज देते हैं ! 

उच्च शिक्षा लेने के लिए लोग पूर्णिया से बाहर जाते हैं इसके पीछे कई कारण  है जैसे यहां पर अच्छे  प्रोफेशनल कॉलेज की काफी कमी है! लोगों को लगता है यहां की पढ़ाई से हम कोई कंपटीशन नहीं निकाल पाएंगे और हमें नौकरी नहीं मिलेगा!  इस चक्कर में उच्च शिक्षा के लिए ज्यादातर छात्र पूर्णिया से बाहर जाने को मजबूर हैं! 

पूर्णिया जिले की मौजूदा शिक्षा व्यवस्था

हाल के दिनों में पूर्णिया में कई इंजीनियरिंग कॉलेज खुले है और पहले से कई सरकारी नॉन प्रोफेशनल कोर्स कराने वाले डिग्री कॉलेज मौजूद है इन डिग्री कॉलेज की सबसे बड़ी समस्या है सेशन का लेट होना जनरल ग्रेजुएशन करने के लिए तीन से ज्यादा वर्षो का लगना! अब लोग जनरल सब्जेक्ट से परेशान करने के लिए क्रोसपोनडेंस का सहारा ले रहे हैं यहां पर बहुत सारी यूनिवर्सिटी आप अपना डिस्टेंस एजुकेशन सेंटर खोला है जिससे लोग काफी लाभांवित हो रहे हैं और उनका ग्रेजुएशन 3 साल में पूरा हो जाता है फिर भी ऐड करने के लिए वह बाहर जाते हैं! बिहार सरकार का प्रस्तावित मेडिकल कॉलेज पूर्णिया में खुलने वाला है सदर अस्पताल को इसके लिए अपग्रेड किया जा रहा है ! 

इंजीनियरिंग व मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी : पूर्णिया

यहां पर कई प्राइवेट कोचिंग सेंटर हैं और बहुत सारे शिक्षक अलग-अलग सब्जेक्ट का ट्यूशन देते हैं! कुछ छात्र पूर्णिया से बाहर से भी कोचिंग और ट्यूशन लेने के लिए यहां पर आते हैं! लेकिन छात्र छात्राएं तैयारी के लिए कोटा दिल्ली और पटना का रूख करते हैं! 

नीचे दिए गए बॉक्स से अपना मनपसंद टॉपिक चुनें

 

समाचार व जानकारी जिसका आपके जिंदगी से है सीधे सरोकार, अपने मनपसंद का टॉपिक पर क्लिक करें !

भारत : शिक्षा : स्वास्थ्य : नौकरी : खेती-बाड़ी 

पूंजी व वित्त और व्यापार : सरकारी योजना

स्पोर्ट्स - क्रिकेट : गैजेट और विज्ञान

क्लासिफाइड - फ्री प्रचार : सोशल डायरेक्टरी 

मैट्रिमोनियल - शादी विवाह : मनोरंजन और फिल्मी समाचार

बिहार : पूर्णियाँ : कटिहार : अररिया : किशनगंज

ताजातरीन खबरों और बेहतरीन जानकारी के लिए होम पेज पर क्लिक करें  : Home page