Historical Place in Purnea

Puran devi mandir purnea

Puran Devi Mandir Purnea

Puran Devi Mandir Purnea यानि माँ पूरण देवी मंदिर, पूर्णिया, दुनिया के प्राचीनतम मंदिरों में से एक है ! यह मंदिर 600 वर्ष पुराना है जो हिंदू-मुस्लिम तहज़ीब का प्रतीक भी है, कृपया लेख को अंत तक तो जरूर पढ़ें !

माँ पूरण देवी मंदिर का इतिहास

Oldest temple of purnea

देवी मंदिर पूर्णिया

Mata mandir purnea

मैं लेखक के तौर पर हैरान हो गया जब मैंने वहां के मुख्य पुजारी से बातचीत किया, मैंने उत्साहित होकर इस बातचीत का एक वीडियो बनाया ! इस वीडियो को आप भी देखिए आप भी उत्साहित हो जायेंगे और जीवन में कम से कम एक बार इस मंदिर का दर्शन अवश्य करना चाहिए !

यह पूर्णिया का ही नहीं, उत्तर बिहार का सबसे पुराने मंदिरों में से एक है जिसका प्राचीन में महत्व होने के साथ-साथ इस की धार्मिक मान्यताएं भी बहुत ज्यादा है !

पूर्णिया जिला का नाम भी इसी मंदिर के नाम पर पड़ा है, कुछ इतिहासकारों का ऐसा मानना है ! शौकत अली नाम के नवाब ने इस मंदिर को जमीन दान में दी थी जो हिंदू-मुस्लिम एकता का प्रतीक है !

इस मंदिर को देखने कौन आते हैं

यह मंदिर जरूर है लेकिन इतिहासिक होने के कारण हिंदू धर्म को मानने वाले लोगों के अलावा भी अन्य धर्मों के लोग भी इसे देखने के लिए देश व विदेश से लोग आते हैं !

पूर्णिया का ऐतिहासिक स्थल

नववर्ष यानी पहला जनवरी को यहां पर लाखों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं जो यहां पर पूजा पाठ के अलावा ऐतिहासिक स्थानों का दर्शन भी करते हैं !

मंदिर की अन्य जानकारी

इस ऐतिहासिक मंदिर के दो कैंपस हैं और दोनों को मिलाकर 3 से 4 एकड़ भूमि में फैला हुआ है उसके अलावा 60 बीघा जमीन हैं जिसमें खेती होती है !

Puran Devi Mandir Purnea

मंदिर के पीछे एक बड़ा तालाब है, कहा जाता है कि जिस स्त्री को संतान नहीं होता है, अगर वहां पर एक बार स्नान करती हैं तो उसे संतान की प्राप्ति हो जाती है !

पूरण देवी मंदिर पूर्णिया

मंदिर परिसर में पहले से ही एक बड़ा धर्मशाला है और एक नया धर्मशिला का निर्माण हुआ है ! ठंडा पानी पीने की उचित व्यवस्था भी है ! 

Tourist attractions of purnia

1 जनवरी और दुर्गा पूजा के समय जब श्रद्धालुओं की संख्या काफी बढ़ जाता है, तो उस समय शौचालय के लिए लोगों को थोड़ी मशक्कत करना पड़ता है !

जब मैं मंदिर परिसर में घूम रहा था तभी मुझे एक अच्छे आदमी से मुलाकात हुआ जिसका नाम श्री मनोज मिश्रा है ! मिश्रा जी ने मंदिर की अन्य जानकारी मुझे दिया जिसको मैंने वीडियो के जरिए इस रिकॉर्ड कर लिया है !

 

आप भी इस वीडियो को देखिए और अगर आप की जानकारी पूरी ना हो पाए तो मिश्रा जी से फोन के जरिए संपर्क कर सकते हैं - 94 3041 9078

 

माँ पूरण देवी मंदिर, पूर्णिया कैसे पहुंचे

माँ पूरण देवी मंदिर, पूर्णिया जिला मुख्यालय से मात्र 5 किलोमीटर की दूरी पर चिमनी बज़ार मार्ग (पूर्णिया सिटी) में स्थित है !

पूर्णिया-कसबा स्टेट हाई-वे के नाका चौक के पास से पश्चिम की ओर चिमनी बज़ार मार्ग निकलता है ! नाका चौक (पूर्णिया सिटी) से मात्र 1 किलोमीटर दूरी पर यह मंदिर स्थित है !

पूर्णिया रेलवे स्टेशन से

पूर्णिया रेलवे स्टेशन से मंदिर की दूरी लगभग 2 किलोमीटर की है, आप चाहें तो पब्लिक ट्रांसपोर्ट के द्वारा भी आसानी से पहुंच सकते हैं ! स्टेशन रोड से आपको पूर्णिया-कसबा स्टेट हाई-वे पर आना होगा उसके बाद आप नाका चौक के पास से पश्चिम दिशा में चिमनी बज़ार मार्ग से आप आसानी से मंदिर परिसर तक पहुंच जाएंगे !

पूर्णिया बस स्टेशन

पूर्णिया बस स्टेशन से लगभग 5 किलोमीटर की दूरी पर यह मंदिर स्थित है ! शेयरिंग ऑटो रिक्शा से भी आप इस मंदिर तक आसानी से पहुंच सकते हैं ! पहले आपको पूर्णिया सिटी के नाका चौक तक पहुंचना है, उसके बाद वहां से आपको चिमनी बाजार मार्ग के द्वारा मंदिर तक आसानी से पहुंच सकते हैं !

हवाई मार्ग

पूर्णिया में पब्लिक के लिए अभी हवाई अड्डा नहीं है, लेकिन कुछ वर्षों में यहां पर हवाई अड्डा बनने वाला है ! पूर्णिया शहर से नजदीक दो हवाई अड्डा है जिसका नाम बागडोगरा और पटना हवाई अड्डा है !

 

मां पूरण  देवी मंदिर

 

Other Tourist place in Purnea

Tourist attractions in Purnia 

  1. Darghah of Hazrat Mustafa Jamalul Haque Bandagi, Chimni Bazar, Dargah
  2. Khanquah Alia Mustafia, histocial Deorhi ruins of Garbanili, Kala Bhawan
  3. Raja Kalanand Singh’s historic Darbar (Palace).
  4. Jalagarh citadel became built by means of the Mughal.